गोंदिया: सड़क अर्जुनी डकैती कांड, मध्यप्रदेश के नीमच से पुलिस ने की दो हिस्ट्रीशीटर आरोपीयों की धरपकड़, 5 की तलाश जारी…

834 Views

3 अप्रैल की रात तीन घरों में डाका डालकर उड़ाया था 7 लाख 7 हजार का माल

क्राइम रिपोर्टर। 14अप्रैल
गोंदिया। बीते 3 अप्रैल की रात को डुग्गीपार थाना क्षेत्र अंतर्गत सड़क अर्जुनी के वार्ड क्र 17 प्रगति कॉलोनी के तीन घरों में 7 आरोपियों ने हाथों में लोहे की रॉड लेकर घर के दरवाजे तोड़कर घर से नकद, जेवरात, सामान व मोबाइल फोन लेकर करीब 7 लाख 7 हजार की चोरी की थी। इस मामले पर पुलिस ने मध्यप्रदेश के नीमच जिले से डकैती में माहिर हिस्ट्रीशीटर कुख्यात दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।
दो आरोपियों अक्षय उर्फ भोला मुकेश बाछड़ा 21 वर्ष निवासी बरडिया जिला नीमच (मप्र),  सुनील रामूजी बैरागी उम्र 33 वर्ष निवासी जतपुरा तहसील मानसा जिला नीमच पर मानसा पुलिस स्टेशन में योग्य कार्रवाई कर आगे की जांच हेतु  गोंदिया लाया गया। गोंदिया पुलिस 5 अन्य आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।
मनीष गुरुप्रसाद गुप्ता (उम्र 52) की रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने नागपुर से लौटने के दौरान आरोपियों को घर से बाहर हाथ मे लोहे की रॉड लेकर निकलते देखा था। जब उन्होंने विरोध किया तो उनके कार की तोड़फोड़ की, उनकी पत्नी व बेटी के गले से सोने के जेवरात खींच लिए व मोबाईल व नकद छीनकर फरार हो गए थे।
मनीष गुप्ता ने पुलिस को बताया था कि उनके घर से करीब 3 लाख 84 हजार, इसी तरह मोहल्ले के श्रीमती पुष्पकला पुरुषोत्तम बोरकर (उम्र 56 वर्ष) के घर भी सामने का दरवाजा का ताला तोड़कर घर से 2 लाख 14 हजार 500 रुपये का मुद्देमाल एवं धनराज डहारे उम्र 38 वर्ष के घर का दरवाजे का इंटरलॉक तोड़कर घर के भीतर से 1 लाख 8 हजार 500 रुपये के माल पर हाथसाफ कर फरार हुए थे।
फिर्यादि मनीष गुप्ता की मौखिक रिपोर्ट के आधार पर डुग्गीपार पुलिस ने इस मामले में अज्ञात डकैतों के खिलाफ भादवि की धारा 395, 457, 380, 427 के तहत मामला दर्ज कर डकैती की घटनाओं को गंभीरता से लेते इसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे को दी थीं। पुलिस अधीक्षक ने खबर मिलते ही घटना स्थल पर जाकर मुआयना किया एवं इस वारदात को अंजाम देने वालो की धरपकड़ हेतु अलग अलग टीम बनाकर जांच के आदेश दिए थे।
 जिला पुलिस की लोकल क्राइम ब्रांच टीम (LCB) को विश्वसनीय सूत्रों से खबर मिली कि इस डकैती कांड को अंजाम देने वाली टोली मध्यप्रदेश के नीमच जिले के ग्राम बरडिया की है। पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे के मार्गदर्शन के आधार पर लोकल क्राइम ब्रांच के पीआई बबन आव्हाड ने मिली खबर पर आरोपियों की धरपकड़ हेतु एलसीबी के एपीआई विजय शिंदे, एपीआई राहुल पाटील, पुउपनि जीवन पाटील व गोंदिया शहर पुउपनि सैदाने के नेतृत्व में 3 टीम तैयार कर नीमच के लिए रवाना किये।
पुलिस के तीनों पथक मध्यप्रदेश के नीमच जिले के मानसा पुलिस स्टेशन पहुँचे। वहां स्थानिक पुलिस की मदद से वहां डकैती करने वाली टोली का संपूर्ण रेकॉर्ड खंगाला। रेकॉर्ड में मानसा पुलिस स्टेशन सीमा के हिस्ट्रीशीटर अक्षय बाछड़ा, सुनील बैरागी व उसके साथीदार ऐसे अपराध करने के लिए पूरे देश भर में अलग अलग ठिकानों पर फिरते है और डकैती जैसी गंभीर घटनाओं को अंजाम देते है ऐसी जानकारी मिली।
गोंदिया की पुलिस टीम ने वहां की लोकल पुलिस की मदद से जाल बिछाकर ग्राम बरडिया जिला नीमच में अक्षय बाछड़ा, सुनील बैरागी व उनके साथीदार के रहने के ठिकानों पर धावा बोला। अक्षय बाछड़ा व सुनील बैरागी पुलिस को देख भागने लगे, परंतु पुलिस के कड़े बन्दोबस्त में वे पकड़े गए। दोनों को हिरासत में लेकर मानसा पुलिस स्टेशन लाया गया। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने गोंदिया जिले के डुग्गीपार थानांतर्गत हुई डकैती की वारदात अन्य 5 साथियों के साथ अंजाम देने के अपराध को कबूल किया।
उन दोनों के बताए अनुसार अन्य साथियों की तलाश की गई, पर वे फरार हो गए। 11 अप्रैल को कुख्यात आरोपी अक्षय उर्फ भोला मुकेश बाछड़ा 21 वर्ष निवासी बरडिया जिला नीमच (मप्र),  सुनील रामूजी बैरागी उम्र 33 वर्ष निवासी जतपुरा तहसील मानसा जिला नीमच पर योग्य कार्रवाई कर आगे की जांच हेतु  गोंदिया लाया गया।
ये कार्रवाई पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, एसडीपीओ संकेत देवलेकर के मार्गदर्शन में एलसीबी के पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड, डुग्गीपार थाना के पीआई सचिन वांगड़े, एपीआई शिंदे, एपीआई राहुल पाटील, एपीआई पांढरे,  पुउपनि जीवन पाटील-एलसीबी, पुउपनि सैदाने-गोंदिया शहर, पुउपनि थूल, उधड़े, यादव, स फौ करपे, पोहवा ठाकरे, टेंभरे, पोना शेख, बिसेन, सुबोध बिसेन, रितेश लिल्हारे, दीक्षित दमाहे, पालान्दूरकर, मारवाडे, बरैया, अग्निहोत्री, भांडारकर, रहांगडाले, बारेवार आदि ने की।

Related posts