गोंदिया: महापुरुषों के विचारों को घर-घर पहुंचाने की जरूरत- घनश्याम पानतवने

275 Views

 

बुद्ध जयंती महोत्सव

भव्यता के साथ संपन्न..

 

गोंदिया (ता.23) पूर्वकाल में समाज में व्यापक स्तर में अंधविश्वास एवं अवांछनीय परम्पराएँ फैली हुई थीं। महापुरुषों ने अपने विचारों से समाज में फैली अज्ञानता, अंधविश्वास और अवांछनीय परम्पराओं को दूर कर समाज को जगाने और सामाजिक व्यवस्था की जानकारी देने का अमूल्य कार्य किया है। इसलिए महापुरुषों की जयंती मनाते हुए महापुरुषों के शक्तिशाली मौलिक विचारों को घर-घर तक पहुंचाने की आवश्यकता है। उक्त विचार नगर परिषद गोंदिया के पूर्व बांधकाम सभापति एवं बौद्ध सामूहिक विवाह समिति के अध्यक्ष घनश्याम पानतवने ने व्यक्त किये.

वे रविवार (21) को संजय नगर (कव्वाली मैदान) में डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर सार्वजनिक जयंती उत्सव समिति द्वारा आयोजित भ.बुद्ध जयंती महोत्सव कार्यक्रम में बोल रहे थे.

कार्यक्रम में अतिथि के रूप में कृषि उपज मंडी समिति के सभापति भाऊराव उके, जयंती उत्सव समिति के अध्यक्ष अमित भालेराव, समिति के पूर्व अध्यक्ष सतीश बंसोड़, प्रदीप ठवरे, पूर्व पार्षद सुषमा मेश्राम, सामाजिक कार्यकर्ता दीपेंद्र वासनिक, राजेश बघेल, राजेश खरोले, विशाखा कोटंगले, वीणा गणवीर, रवि कोटंगले , डॉ. राजेंद्र वैद्य, डॉ. सोनाली वैद्य, प्रकाश टेंभेरे, शेखर मेश्राम, मुख्य रूप से मौजूद रहे।

कार्यक्रम की शुरुआत द्वीप प्रज्वलित कर व बुद्ध की पूजा अर्चना कर की गई। जयंती उत्सव में 43 वर्षों की अक्षुण्ण परंपरा को कायम रखा है और इस वर्ष उत्सव समिति ने रक्तदान शिविर, सामूहिक विवाह, गरीब छात्रों को शिक्षण सामग्री का वितरण, जरूरतमंदों की मदद आदि सामाजिक कार्य किए हैं।

जयंती उत्सव के दौरान सामाजिक कार्यों में उत्कृष्ट योगदान के लिए सामाजिक कार्यकर्ता घनश्याम पानतवने और देवेंद्र रामटेके को समिति द्वारा सम्मानित किया गया।

जयंती उत्सव ने आंबेडकरी लोगों को सम्मान, गरिमा और शक्ति प्रदान की है। अतः भविष्य में उत्सव समिति नि:शुल्क एंबुलेंस सेवा, गरीब बालक-बालिकाओं को नि:शुल्क गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा, नि:शुल्क शिक्षण सामग्री का वितरण, समाज को आगे लाने के लिए रक्तदान एवं सामूहिक विवाह आंदोलन की व्यवस्था करेगी, ऐसा उदघोष विचार प.पु. डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर सार्वजनिक जयंती उत्सव समिति के अध्यक्ष अमित भालेराव ने अपने प्रस्तावना में दिया है।

कार्यक्रम की सफलता हेतु अनिल डोंगरे, आकाश टेंभुर्णिकर, रवि भालाधरे, प्रवीण बोरकर, अमर राउत, सुनील मेश्राम, वसंत गणवीर, वेदांत गजभिए, मिलिंद गणवीर, प्रफुल भालेराव, शैलेश टेम्बेकर, जितेंद्र सतीसेवक और नवयुवक बौद्ध समिति संजय नगर के युवाओं ने सफलता के लिए सहयोग किया। कार्यक्रम का संचालन श्याम चौरे व आभार हर्षपाल रंगारी ने माना।

Related posts