गोंदिया: जिलाधिकारी नयना गुंडे ने “रक्तदान” कर युवाओं को रक्तदान के लिए किया प्रेरित…

827 Views
प्रतिनिधि। 15 जनवरी
गोंदिया। हमारा खून किसी अन्य जरूरतमंद के लिए काम आये और उससे उसे नया जीवन मिलें, यही जीवन का सर्वश्रेष्ठ दान है। इसलिए रक्तदान को जीवन का सबसे बड़ा दान कहा गया है। गोंदिया जिलाधिकारी श्रीमती नयना गुंडे ने ब्लड बैंक में रक्त की आ रही कमी को देख एक जिम्मेदार अधिकारी के रूप में सामने आकर रक्तदान किया और युवाओं को रक्तदान करने हेतु प्रेरित किया।
जिलाधिकारी श्रीमती गुंडे ने आज बाई गंगाबाई महिला जिला अस्पताल स्थित शासकीय मेडिकल कॉलेज के ब्लड बैंक में भेंट दी। वहां रक्त संकलन की स्थिति का निरीक्षण किया। कोविड जैसी स्थिति में स्कूल, कॉलेज बंद एवं सामाजिक कार्यो में पाबंदी के चलते रक्तदान शिविर में कमी आयी है जिसके चलते ब्लड की मांग बढ़ रही है। इस स्थिति से निपटने स्वयं जिलाधिकारी ने सामने आकर रक्तदान किया एवं युवाओं, युवतियों एवं सामाजिक संगठन के कार्यकर्ताओं से अपील की, कि वे स्वयं आगे आकर  स्वेच्छा से रक्तदान करें।
इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नितिन कापसे, जिला सर्जन डॉ. अंबरीश मोहबे, ब्लड बैंक अधिकारी डॉ. पल्लवी गेडाम, बाई गंगाबाई महिला अस्पताल प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुवर्णा हुबेकर, नर्सिंग स्टाफ रीता शिंदे और पीआरओ अनिल गोंडाने और ब्लड बैंक के पैरामेडिकल स्टाफ उपस्थित रहा।
जिलाधिकारी द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान के लिए ब्लड बैंक की ओर से जिला सर्जन डॉ अंबरीश मोहबे ने राज्य रक्त संक्रमण परिषद की ओर से प्रशंसा पत्र और डोनर कार्ड के प्रदान किया गया।
जिला शल्य चिकित्सक डॉ अम्बरीश मोहबे ने युवाशक्ति से अपील की की वे पांच के समूह में आगे आकर शासकीय ब्लड बैंक में रक्तदान कर रक्त की कमी को दूर करने हेतु प्रयास करें।

Related posts