गोंदिया: 20 दिन में तय की 2500 किलोमीटर की साइकिल यात्रा, लौटने पर हुआ साइकिलिस्ट अशोक मेश्राम का गोंदिया में भव्य स्वागत…

865 Views

 

62 वर्ष की उम्र में भी एकदम स्वस्थ्य है अशोक मेश्राम..

गोंदिया: 25 दिसंबर 2021 को साइकिल से गोंदिया से निकले 62 वर्षीय साइकिलिस्ट अशोक मेश्राम इन्होंने पर्यावरण संरक्षण, राष्ट्रीय एकता, शांति और शांति के संदेश के साथ 20 दिनों में 2500 किलोमीटर की दूरी तय कर साहस का परिचय दिया तथा गोंदिया जिले का नाम रोशन किया।

उनकी वापसी यात्रा 13 जनवरी, 2022 को रात 8 बजे गोंदिया पहुंचकर सम्पन्न हुई। गोंदिया पहुंचने पर उनका स्थानीय गोविंदपुर पाटलिपुत्र बुद्ध विहार में संविधान मैत्री संघ, आम्ही सिद्ध लेखिका, बिरसा क्रांति दल और पाटलिपुत्र बुद्ध विहार महिला मंडल की ओर से उनका स्वागत सत्कार अभिनंदन किया गया।

इस अवसर पर साइकिलिस्ट अशोक मेश्राम की पत्नी लक्ष्मी मेश्राम, आम्ही सिद्ध लेखिका अध्यक्ष प्रा. डॉ. दिशा गेडाम, संविधान मैत्री संघ की पूर्णिमा नागदेवे, अतुल सतदेवे, बिरसा क्रांति दल की मालती किन्नाके, शालिनी पंधरे, समता मेश्राम, इंदु उके, गौतमा चिचखेड़े, सरोज घोडेस्वार, शीतल मेश्राम, सुनीता बडगे, सुरेखा मेश्राम, आंचल भीमटे, उषा बागड़े, अंजली भीमटे, माधवी बंसोड़, समीक्षा भीमटे, निशा मेश्राम, ममताताई, गौतमा मेश्राम, शांता भावे, दमयंता बागड़े, सारिका आदि ने प्रमुखता से उपस्थित रहकर अशोकभाऊ का स्वागत किया और उनके साहसिक प्रयास हेतु शुभकामनाये व्यक्त की।

साइकिल सवार अशोक बलभद्र मेश्राम गोविंदपुर गोंदिया के रहने वाले हैं। वह गोंदिया डेली साइक्लिंग ग्रुप के निदेशक और संविधान मैत्री संघ के संरक्षक हैं।

संवैधानिक एकता, शांति, भाईचारे और स्वस्थ भारत और पर्यावरण संरक्षण के संदेश के साथ, अशोक मेश्राम 25 दिसंबर को गोंदिया से नागपुर (दीक्षाभूमि), पुणे (भीमा कोरेगांव), मुंबई (चैत्यभूमि) की यात्रा करने के संकल्प के साथ गोंदिया के लिए रवाना हुए और भंडारा, नागपुर, यवतमाल, वाशिम, 3 जनवरी को औरंगाबाद, पुणे (कोरेगांव), खंडाला घाट, मुंबई पहुंचे। मुंबई से लौटते हुए कसारा घाट, इगतपुरी, नासिक, जलगांव, धुले, अकोला, अमरावती, वर्धा, नागपुर, भंडारा होते हुए गोंदिया लौटे।

Related posts