साढ़े चार करोड़ का घोटाला, 10 माह में FIR दर्ज नहीं, रुपये नही लौटाए तो कर लूंगा खुदखुशी

450 Views

अकेले एजेंट भास्कर कायरकर द्वारा ग्राहकों के जमा कराए गए 60 लाख फंसे है संत नरहरी पत संस्था में..

प्रतिनिधि। 9 दिसंबर
गोंदिया। छोटे व्यापारियों एवं दिहाड़ी मजदूरों के रोज के डिपाजिट पर सिर्फ विश्वास के बलबूते पर चलने वाली पतसंस्था इतनी फरेबी, धोखेबाज भी हो सकती है ये किसी ने नही सोचा था, पर गोंदिया की एक पत संस्था ने साढ़े चार करोड़ रुपये ग्राहकों के डकारे जाने का मामला सामने आया है।
इस पतसंस्था का नाम है संत नरहरी संस्था, जिस पर आरोप है कि इस संस्था में 10-12 एजेंट के माध्यम से करीब 2 हजार जमा खाता ग्राहकों की करीब चार करोड़ 50 लाख रकम डकार ली है। इस मामले पर शहर के रामनगर पुलिस थाना एवं सहायक निबंधक कार्यालय में फरवरी 2021 में शिकायत दर्ज कराई गई, पर अबतक 10 माह बीत जाने के बाद भी न एफआईआर दर्ज हुई न शिकायत।
पतसंस्था के एजेंट भास्कर रामभाऊ कायरकर ने कहा, मैं वर्ष 2009 से इस बैंक में लगा, और मेरे माध्यम से करीब 60 लाख रुपये खाता धारकों के रुपये जमा है। ग्राहक रुपये मांग रहे है पर संस्था चालक महीनों से घुमा रहे है। दबाव के चलते मैं मानसिक रूप से चिंतित हूँ। अगर रुपया वापस न मिला तो मैं आत्महत्या कर लूंगा।
खाता धारक ग्राहकों ने संस्था का मालमत्ता की नीलामी कर व मामला दर्ज कर रुपये लौटाने हेतु कार्रवाई की अपील की है।

Related posts