गोंदिया: किसानों को बड़ी राहत, अब किसी भी धान खरीदी केंद्र पर बेच सकेंगे धान

1,759 Views

 

प्रतिनिधि/गोंदिया : शासकीय आधारभूत धान खरीदी केंद्रों पर किसान अपना धान बेचने की प्रक्रिया करते है। इसके लिए प्रत्येक गांव को एक धान बिक्री केंद्र आवंटित किया जाता है और उन्हें उसी संस्थान में पंजीकरण कराना होता है और अपने धान की बिक्री हेतु प्रतीक्षा करना होता है। धान की खरीद के लिए किसी संस्था को 3 गांव तो किसी संस्था को 10 गांव दिए जाते हैं, ऐसे में समानता नहीं होने से किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

इस मामले को लेकर गोंदिया के विधायक विनोद अग्रवाल ने मुंबई मंत्रालय में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल से भेंट की एवं उन्हें इस समस्या से अवगत कराया। उन्होंने कहा, किसी भी धान खरीद केंद्र पर किसानों को धान बेचने की अनुमति अगर दी जाती है तो धान खरीदी केंद्र में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और इसका सीधा लाभ किसानों को होगा. खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने किसानों के इस मामले पर संज्ञान लेकर विधायक विनोद अग्रवाल को आश्वासन दिया कि किसान किसी भी धान खरीद केंद्र पर धान बेचने के लिए सकारात्मक होंगे और इस तरह की अधिसूचना जल्द ही जारी करेंगे।

इस सम्बंध में विधायक विनोद अग्रवाल ने जिलाधिकारी गोंदिया और जिला विपणन अधिकारी से मुलाकात कर उन्हें आश्वस्त किया था कि विषय किसानों के हित में है ताकि किसान किसी भी केंद्र पर अपना धान बेच सकें. इस मामले का प्रस्ताव मंत्रालय भेजा गया, जिसपर विधायक श्री अग्रवाल ने मुंबई में मंत्री छगन भुजबल और विभाग के सचिव डॉ. विजय वाघमारे से मुलाकात कर समस्या का समाधान करने हेतु चर्चा की थी। उन्होंने कहा शासन के सकारात्मक सहमति से अब किसानों के लिए किसी भी केंद्र पर धान बेचने का रास्ता खुल जाएगा.

किसानों को होगा फायदा, अनाज खरीद केंद्रों में बढ़ेगी प्रतिस्पर्धा..

बारदाना उपलब्ध न होने, गोदाम में जगह की कमी के कारण धान खरीदी में अक्सर देरी होती थी लेकिन अब किसी भी धान खरीद केंद्र पर धान बेचने का निर्णय धान खरीद केंद्रों के बीच प्रतिस्पर्धा पैदा करेगा और धान की खरीद तेज होगी और साथ ही सरकार का समय और पैसा भी बचेगा।

Related posts