गोंदिया: प्रशासन ने नहीं ली सुध तो युवकों ने कर डाली सड़क की मरम्मत, स्कूल के छात्रों ने भी बढ़ाया श्रमदान का हाथ

294 Views

 

प्रतिनिधि गोरेगांव । गोंदिया
गोरेगांव तहसील के पिंडकेपार सड़क पर इतने जानलेवा गड्‌ढे निर्माण हो गए थे कि यह सड़क पैदल चलने लायक तक नहीं थी। कई बार प्रशासन से सडक की मरम्मत करने की मांग की गई, लेकिन प्रशासन ने सुध नहीं ली। आखिर 29 अगस्त को ग्राम के युवक एकत्रित होकर 1 किमी तक के जानलेवा गड्ढों को बुझाकर चलने लायक सड़क बना दी है। वहीं जिला परिषद व विकास हाईस्कूल के विद्यार्थियों ने भी श्रमदान कर सड़क पर मुरुम, गिट्‌टी बिछाते हुए मदद का हाथ बढ़ाया।

बता दें कि गोरेगांव मुख्यालय को पिंडकेपार से जोड़ने के लिए 10 वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत डामरीकरण सड़क निर्माण की गई। लेकिन इस सड़क पर पग-पग पर इतने जानलेवा गहरे गड्‌ढे निर्माण हो गए कि चौपहिया वाहन गुजरना बंद हो गए। बारिश में गड्‌ढे अधिक गहरे हो जाने से पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा था। इसी सड़क से जिला परिषद स्कूल, विकास हाईस्कूल के विद्यार्थी जान को जोखिम में डालकर शिक्षा का पाठ पढ़ने जाते हैं। सबसे अधिक दिक्कतों का सामना अंबुलेंस से भर्ती होने जा रहे गर्भवती महिलाएं तथा अन्य बीमारियों के मरीजों को करना पड़ता था। कई बार प्रशासन से सड़क मरम्मत करने की मांग की गई। किंतु इस ओर अनदेखी किए जाने के कारण ग्राम के युवा शक्ति मंच, जिप स्कूल व विकास हाईस्कूल तथा ग्राम के नागरिकों ने 29 अगस्त को सड़क के गड्‌ढे बुझाकर चलने लायक सड़क बना दी।

गड्‌ढे बुझाने के लिए लगनेवाली सामग्री क्षेत्र के समाजसेवी बबलु बिसेन ने उपलब्ध कराकर मदद का हाथ बढ़ाया। सड़क की मरम्मत कराने सरपंच, पूर्व सरपंच, िवमुस अध्यक्ष, जिला परिषद स्कूल के शिक्षक, विकास हाईस्कूल के मुख्याध्यापक, किसान तथा युवा महाशक्ति मंच के युवाओं ने हिस्सा लिया।

Related posts