इंस्टाग्राम में हुई दोस्ती, नाबालिक छात्रा का अपहरण कर ट्रैन में ले जा रहे थे अपहरणकर्ता, RPF पुलिस ने दबोचा

599 Views

भंडारा-नागपुर के बीच गोंडवाना एक्सप्रेस में हुई कार्रवाई, बिलासपुर से ग्वालियर ले जा रहे थे..

प्रतिनिधि।
गोंदिया। 15 जुुलाई को आरपीएफ पुलिस ने गोंडवाना एक्सप्रेस में यात्रा कर एक नाबालीग छात्रा को अपहरण कर ले जाते पाए जाने पर अपहरणकर्ताओ को गिरफ्तार कर उनके चंगुल से नाबालिग छात्रा को छुड़ाने में सफलता प्राप्त की है।

गौरतलब है कि देश में नाबालिग लड़कियों के अपहरण व ह्यूमन ट्रैफिकिंग के मामले बढ़ रहे है। इसी के तहत ट्रैनों में रेलवे पुलिस द्वारा जांच पड़ताल कर ऐसे मामलों की रोकथाम हेतु कार्रवाई की जाती रही है। इसी पड़ताल के तहत अपराध गुप्तचर शाखा नागपुर के प्रभारी निरीक्षक विकास कुमार के नेतृत्व में उप निरीक्षक विनेक मेश्राम, प्र. आ. एस. बी. मेश्राम एवं आरक्षक अश्विनी कुमार गाडी क्रमाक 04079 गोंडवाना एक्सप्रेस मे भंडारा से नागपुर के मध्य मानव तस्करी, अपराधीक आसूचना व पतासाजी हेतु गाडी मे तैनात थे।

 इसी दौरान नागपुर के नजदीक लगभग 12.30 बजे उप निरीक्षक विनेक मेंश्राम एवं प्र. आ. एस. बी. मेश्राम को, गाडी के कोच नं. बी. /04 बर्थ नं. 57, 60, 63 मे एक नाबालिग लडकी (छात्रा) को दो लडकों के साथ संदेहास्पद स्थिती में यात्रा करते हुये देखा गया। पुछताछ करने पर तीनों ने अपना नाम क्रमश: बदला हुआ नाम 01 ) सोनम पिता अजीतसींग उम्र-17 वर्ष, कक्षा 10वी, 02) श्याम वल्द दिनानाथ उम्र-20 वर्ष पता ग्राम नुराबाद, जिला मुरैना एवं 03) शैलेष वल्द देवीदास उम्र-21 वर्ष निवासी गोलपहाडिया ग्वालियर ( म.प्र.) बताया ।

नाबालिग से गहनता से पुछताछ करने पर उसने बताया कि उसकी सहेली मनु राजपुत बिलासपुर और उसके मित्र शैलेष कि दोस्ती इन्सटाग्रॉम के माध्यम से हुयी। इसी तरह चार माह पूर्व मनु राजपुत ने नाबालिक का फोटो अपने वाटस्अप स्टेटस में रखी। ब्वॉय फ्रेन्ड शैलेष ने देखकर मनु को उसके भाई श्याम से दोस्ती करवाने बोला। जिससे मनु के द्वारा शैलेष से बातचीत के दौरान उसके भाई श्याम से नाबालिक (छात्रा) से दोस्ती करवाई।

इस तरह नाबालिक और श्याम मे लगातार बातचीत होती रही और दोरती प्यार मे बदल गई जिसका फायदा उठाकर दोनो आरोपीयों ने नाबालिक (छात्रा) का (बलात्कार) अस्मत लूटकर उठाया और उसे अपने साथ बहला फुसलाकर फर्जी नाम व आधारकार्ड का इस्तेमाल कर छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से मध्य प्रदेश के ग्वालियर मे लेकर जा रहे थे। आर.पी.एफ. क्राईम ब्रांच नागपुर, दपूम रेलवे की टीम द्वारा सजगता का परिचय देते हुये नाबालिक को अपहरणकर्ताओं की चंगुल से छुडाया।

शासकीय रेल पुलिस नागपुर श्री संदीप गोंडाने सहा. पुलिस निरीक्षक बाल अधिकारी की सहायता व चाईल्ड लाईन के कर्मचारी दिपाली व प्रज्ञा की सहायता से आरोपीयो को शासकीय रेल पुलिस को नागपुर को सुपुर्द किया तथा नाबालिक के परिजनों को सुचना देते हुये उसे शेल्टर होम पुलिस द्वारा भेजा गया। आरोपीयों के विरुद्ध शा.रे.पुलिस द्वारा आपराध पंजीबद्ध कर धारा 363ए 366अ, 376(2) व POCSO Act 4/6 – 2012 के तहत कार्यवाही की गई।

आर.पी.एफ. द्वारा आम जनता से अपील की गई कि सोसल मिडिया के माध्यम से बढते हुये अपराधों को देखते हुये अपने बच्चों को सही मार्गदर्शन करे एवं किसी भी अनजान, अपरिचीत से दोस्ती ना करने कि सलाह दे। साथ ही दुष्परिणामों के बारे में अवगत कराये। तांकि भविष्य मे किसी भी नाबालिक छात्र, छात्रोओं एवं बच्चों के साथ इस प्रकार के बलात्कार जैसे हादसे ना हो और वे हमेशा सुरक्षित रहे।

Related posts