म्युकरमाइकोसिस से ग्रसित मरीजों के उपचार हेतु मुफ्त में इंजेक्शन की पूर्ति करे राज्य सरकार- पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस

227 Views

 

कोविड में निजी अस्पतालों में बड़े बिलो को लेकर उच्च न्यायालय औरंगाबाद खंडपीठ में करेगे पेश…

गोंदिया। 26 मई
कोविड-19 के वर्तमान हालातों की समीक्षा करने गोंदिया जिला आये महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने म्युकरमाइकोसिस संक्रमण से बाधित मरीजों के इलाज पर गहरी चिंता व्यक्त की। उन्होंने जिले में कोविड मरीजों के साथ ही म्युकर माइकोसिस से ग्रस्त मरीजों की जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों एवं जिलाधिकारी से ली।

श्री फडणवीस ने कहा, म्युकर माइकोसिस संक्रमण का इलाज बहोत महंगा होने से वर्तमान राज्य सरकार ने इस बीमारी का इलाज महात्मा ज्योतिबा फुले जन आरोग्य योजना अंर्तगत करने की घोषणा की थी, परंतु इस बीमारी के तहत किसी भी मरीज को इस योजना का लाभ निजी अस्पतालों में प्राप्त नही हो रहा है।

उन्होंने कहा, राज्य सरकार ने इस संक्रमण के लाखों रुपयों में आने वाले इंजेक्शन की आपूर्ति मरीजो के इलाज हेतु मुफ्त में पूर्ति करना चाहिए, ताकि आर्थिक रूप से कमजोर तबकों को इसका लाभ प्राप्त हो सकें।

फडणवीस ने ये भी कहा कि, राज्य में निजी अस्पतालों में बड़ी संख्या में कोविड मरीजों को लाखों रुपये बिल के रूप में अदा करने पड़े। इन बिलों की रकम इस योजना अंतर्गत वापस मिलने हेतु हम बड़े हुए बिलों को उच्च न्यायालय औरंगाबाद खंडपीठ में पेश करेंगे।

इस दौरान पूर्व मंत्री चन्द्रशेखर बावनकुले, पूर्व मंत्री व आ. परिणय फुके, सांसद सुनील मेंढे, पूर्व मंत्री राजकुमार बडोले, विधायक विजय रहांगडाले, जिलाधिकारी दीपककुमार मीणा, शासकीय वैद्यकिय महाविद्यालय के डीन डॉ. नरेश तिरपुड़े, जिप सीईओ प्रदीपकुमार डांगे, सीएस मोहबे, पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल, रमेशभाऊ कुथे, संजय पुराम, भेरसिंग नागपुरे, भाजपा जिलाध्यक्ष केशवभाऊ मानकर, बालाभाऊ अंजनकर, नेतराम कटरे, संजीव कुलकर्णी, सुनील केलंका, संजय टेंभरे सहित प्रशासकीय प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts