बंगाल में हिंसा आगजनी व लूटपाट पर अविलंब विराम लगे: विहिप

218 Views

आमगांव तहसीलदार के मार्फ़त बजरंग दल व विहिप कार्यकर्ताओ ने राष्ट्रपति को भेजा निवेदन.. 

प्रतिनिधि। 07 मई
आमगांव। बंगाल में गत तीन दिनों से लगातार चल रही हिंसा, आगजनी, लूटपाट, धमकियों, बलात्कार की घटना तथा राजनैतिक विद्वेष पूर्ण हमलों की बजरंगदल व विश्व हिंदू परिषद आमगांव द्वारा कड़ी निंदा की गई। इस मामले पर तहसीलदार आमगांव को देश के महामहिम राष्ट्रपति के नाम निवेदन देकर ऐसी घटनाओं पर अविलंब विराम लगाने की मांग की है।
 महा.राष्ट्रपति के नाम लिखे निवेदन में बजरंग दल व विहिप कार्यकर्ताओ ने लिखा कि,  इन घटनाओ ने सम्पूर्ण देश को ना सिर्फ शर्मसार किया है अपितु लोकतांत्रिक मर्यादाओं को भी तार-तार किया है। राज्य में मतगणना के दौरान प्रारंभ हुए अनेक प्रकार के अनवरत हमलों पर बंगाल में हिन्दू समाज भयाक्रांत है और जिनके पास राज्य की कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी है वे अपनी आँखें मूँदे बैठे हैं।
  राज्य के लगभग हर हिस्से से लगातार यही खबरें आ रही हैं कि हिन्दू घरों, मंदिरों, बस्तियों, बहिन-बेटियों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को समाज-कंटक टीएमसी के गुंडे सरेआम हिंसा, आगजनी व लूटपाट का शिकार बना रहे हैं। अनेक हिंदुओं को राजनैतिक प्रतिद्वंदियों द्वारा लगातार धमकियाँ भी दी जा रही हैं तथा इन सब मामलों में स्थानीय पुलिस-प्रशासन मूक दर्शक बन तमाशा देख रहा है। ये हिंसा अब तक एक दर्जन से अधिक लोगों की जान ले चुकी तथा अनेक घर, दुकानें, मंदिर, बस्तियां व व्यावसायिक प्रतिष्ठान स्वाह हो चुके हैं।
    हिंसा की शिकार हुतात्माओं के प्रति अपनी गहरी  संवेदना व्यक्त करते हुए हम विहिप कार्यकर्ता मांग करते है कि राज्य शासन हिंसा के तांडव को अबिलंब रोक कर दंगाइयों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करे। इसी के साथ राज्य सरकार के उदासीन रवैए को गंभीरता से लेते हुए अब केंद्र सरकार भी यथोचित कार्यवाही करे। जहां सुरक्षा-बल तक सुरक्षित ना हों वहाँ सामान्य नागरिकों का क्या हाल होगा, यह आसानी से समझा जा सकता है। वर्तमान शासन व राजनैतिक नेतृत्व द्वारा क्षुद्र राजनैतिक विद्वेष से अपने ही नागरिकों पर हो रहे भीषण अत्याचारों पर मूक दर्शक बन मुंह मोड लेना हिंसा को बढ़ावा देने से कम नहीं है। नागरिको की सुरक्षा हेतु अविलंब कदम उठाए जाना जरूरी है।
निवेदन देने वालों में बजरंग दल प्रांत सहसंयोजक नवीन जैन, बजरंगदल जिला सह संयोजक बालाराम व्यास, आमगांव के शंकर शेंडे, जनार्दन तळस, राजू बावनथड़े, धर्मेंद्र असाटी, अमर चुटे आदि उपस्थित थे।

Related posts