सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं- लोकेश (कल्लू) यादव

977 Views

फायर कर्मचारी की पत्नी की तबीयत खराब होने पर उसे घर भेजकर खुद ने संभाला मोर्चा

कल की घटना से आहत होकर भी आज फिर दिखें मैदान में, केटीएस, बीजीडब्ल्यू व मनिहारी धर्मशाला में कोविड सेंटर प्रांगण में किया सेनेटाइज्ड…

प्रतिनिधि। 24 अप्रैल
गोंदिया। कहते है ना, सत्य परेशान हो सकता है पर पराजित नहीं। कुछ ऐसा ही गोंदिया के अग्रणी समाजसेवक बनकर अपनी जान की परवाह न कर कोरोना संकट में दौड़-भाग करते सेवाकार्य कर रहे नगरसेवक लोकेश (कल्लू) यादव के साथ 23 अप्रैल को हुआ। कहा जाता है कि कुछ राजनीतिक लोगो को उनके सेवाकार्य हजम नही हुए, जिससे उनपर व उनके भाई जिला शिवसेना समन्वयक पंकज यादव पर प्रशासकीय स्तर पर शहर थाने में मामला दर्ज कराया गया था। परंतु इस घटना से आहत होने के बावजूद वे आज फिर इस संकट में मैदान में सक्रियता से दिखाई दिए।

कल्लू यादव ने कल की घटना को भूलकर आज जिला सामान्य रुग्णालय केटीएस, बाई गंगाबाई स्त्री रुग्णालय व सिंधी कॉलोनी स्थित मनिहारी धर्मशाला के कोविड सेंटर के प्रांगण में एक फायर कर्मचारी की तरह सेनेटाइज्ड करते दिखाई दिए।

आज फायर ब्रिगेड वाहन में एक कर्मचारी की पत्नी की घर पर तबीयत खराब होने का फोन आया। कल्लू यादव ने त्वरित उसे घर जाने को कहा और खुद काम पर लगकर सेवा करते दिखाई दे।

उनके इस निरंतर सेवा कार्य से पूरे शहर से उन्हें प्रशंसा प्राप्त हो रही है। उनका कहना है कि चाहे लाख करलो कोशिश, फिर भी मैं अपना कर्तव्य धर्म निभाता रहूँगा। रुके ना, रुकेगा निस्वार्थ सेवा करता रहूंगा।

Related posts