विकास मेडिकल पर नप की कार्रवाई से भड़के दवा दुकानदार, पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन की मध्यस्थता से खुली दुकानें..

2,342 Views

 

प्रतिनिधि। 13 अप्रैल
गोंदिया। इन दिनों कोविड-19 संक्रमण के संकट से गोंदिया जिला सहित पूरा महाराष्ट्र जूझ रहा है। दवा, दुआ और डॉक्टरों के भरोसे लोग इस संकट से लड़ रहे है। प्रशासन इस संक्रमण से रोकथाम हेतु भीड़ जमा न हो इस हेतु दंडात्मक कार्रवाई कर रहा है। फिर भी बाजार व दवा दुकानों में भीड़ देखी जा रही है।

इस मामले को लेकर आज मंगलवार 13 अप्रैल को शाम के दौरान नगर परिषद कर्मचारियों द्वारा शहर के दुर्गा चौक स्थित विकास मेडिकल पर भीड़ देखकर मेडिकल संचालक पर दंडात्मक कार्रवाई कर 1 हजार का दंड वसूला गया।

अपनी जान जोखिम में डालकर अतिआवश्यक सेवा के रूप में दवा की पूर्ति कर रहे मेडिकल स्टोर्स के संचालक इस कार्रवाई से भड़क गए और देखते ही देखते कुछ दुकानदारों ने मेडिकल का शटर डाऊन कर इस कार्रवाई का विरोध दर्शाया।

मामले की खबर लगते ही पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन ने विकास मेडिकल स्टोर्स पर जाकर घटना का जायजा लिया। तनावपूर्ण माहौल को देख नगर परिषद मुख्याधिकारी करण कुमार चौहान, शहर पुलिस निरीक्षक महेश बंसोड़े, आदि भी पहुँच गए।

मेडिकल के संचालको ने अपनी आपबीती बताई और कहा की हम बड़ी मुश्किलों का सामना कर दवाइयों की पूर्ति कर रहे है। कई मरीज ऐसे भी होते है जो खुद कोविड पॉजिटिव्ह होकर दवाइयां लेने आते है। कोविड संकट में मेडिकल में काम करने वालो की भी कमी हो गई है। ऐसे में प्रशासन ने इस अतिआवश्यक सेवा हेतु भीड़ नियंत्रित करने कर्मचारियों को लगाना चाहिए।

पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन ने दवा दुकानदारों व प्रशासकीय अधिकारियों की सभी बातों का संज्ञान लेकर जिलाधिकारी गोंदिया श्री मीणा से बातचीत कर उन्हें समस्या से अवगत कराया व इस दवा दुकानों के लिए कोई समाधान करने हेतु आवश्यक निर्देश देने की बात की। इस दौरान जिलाधिकारी ने नप सीओ करण चौहान को संकट के इस दौर में शिथिलता व सौहाद्रपूर्ण तरीके से कार्य करने के निर्देश दिए।

पूर्व विधायक के प्रशासकीय स्तर पर बातचीत करने व जल्द ही प्रयायी व्यवस्था कायम करने का समाधान करने पर दवा दुकानदारों ने दवा दुकान का शटर खोलकर विरोध समाप्त किया।

Related posts