महाराष्ट्र में लॉकडाऊन का विरोध कर रहे देवेन्द्र फडणवीस, शिवराज सिंह चौहान से पूछे मध्यप्रदेश में लॉकडाऊन क्यों? मुकेश शिवहरे

731 Views

 

प्रदेश सरकार हर हाल में व्यापक व्यवस्थाएं बनाने प्रयासरत..

प्रतिनिधि। 13 अप्रैल
गोंदिया। संपूर्ण महाराष्ट्र प्रदेश में सबसे ज्यादा गंभीर स्थिति और कोरोना का हमला पुरा महाराष्ट्र प्रदेश झेल रहा है, एैसी स्थिति में राज्य में स्थितियां नियंत्रण करने के लिये लॉकडाऊन ही एकमात्र विकल्प जरुरी था, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता हर हाल में राजनीति करने पर उतारु है, एक तरफ वो अन्य दलों की सरकार बन जाए तो खरीद फरोख्त करके अपनी सरकार बनाने का प्रयास करते हैं तो वहीं अपने विश्वासपात्रो के माध्यम से सरकारों पर झुठे आरोप लगाकर सरकार की छबी खराब करना चाहते हैं। जबकि स्वयं भाजपा के नेताओं को जब सत्ता में रहने का मौका मिलता है तो वो तब आम जनता और किसान मजदूरों के लिये कुछ नहीं करते, बल्कि कुछ चंद उद्योगपतियों के हाथों राज्य और देश की अस्मत बेचने पर उतारु हो जाते हैं, एैसा निशाना गोंदिया जिले के शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस पर लगाया है।

मुकेश शिवहरे ने कहा कि महाराष्ट्र विकट परिस्थितियों से जुझ रहा है, लेकिन एैसे समय में भी भाजपा राजनीति और षडयंत्र कर रही है। श्री शिवहरे ने कहा कि देवेन्द्र फडणवीस बार बार लॉकडाऊन का विरोध कर रहे हैं, तो हम पूछना चाहते हैं कि लॉकडाऊन के लिये नीतियां अलग अलग होगी क्या? जो सवाल फडणवीस उद्घव जी से करना चाहते हैं, वही सवाल वे पहले शिवराज सिंह चौहान से क्यों नहीं कर सकते। शिवहरे ने कहा कि मध्यप्रदेश में भी लॉकडाऊन लगाया गया, और वहां पर जिले की परिस्थितियों के अनुसार लॉकडाऊन लगाया जा रहा है, जबकि मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस का कहर महाराष्ट्र से बहुत कम है। महाराष्ट्र जैसे इतने बड़े प्रदेश में जितनी व्यापक व्यवस्थाओं की जरुरत है, उसके लिये लॉकडाऊन आवश्यक हो गया। हॉस्पिटलों में अब बेड नहीं मिल पा रहे हैं, ऑक्सीजन सिलेंडर और रेमेडिसीव्हीर जैसे उपयोग इंजेक्शन की कमी है, जिसके इंतजाम करने के प्रयास किये जा रहे हैं, और सरकार पुरी मुस्तैदी से लगी हुई है, लेकिन एैसे समय में भी देवेन्द्र फडणवीस को राजनीति की पड़ी है, यह साबित करता है कि आम जनता को भारतीय जनता पार्टी को अच्छी तरह से समझ लेना चाहिये। शिवहरे ने कहा कि देवेन्द्र फडणवीस कितने भी जतन कर लें, उनकी दुषित मानसिकता कामयाब होने वाली नहीं है।
——————–

Related posts