गोंदिया: सिर्फ पांच रुपये मांगे तो, रोती डेढ़ साल की बच्ची को पिता ने पटक-पटक कर मार डाला..

1,308 Views

 

तिरोडा के लोणारा गाँव में घटित हुई दिलदहला देने वाली घटना, पत्नी की रिपोर्ट पर आरोपी पति गिरफ्तार..

हक़ीकत टाईम्स।
गोंदिया: शराबी बाप से जब मासूम डेढ़ साल की बच्ची ने पांच रुपये मांगे तो, बाप ने खिसियाकर अपनी ही बच्ची को दरवाजे पर पटककर उसकी हत्या कर दी। ये दिलदहला देनेवाली घटना तिरोडा थाना के लोणारा गाँव में 2 फरवरी को शाम 7 बजे के दौरान घटित हुई। 

इस मामले में तिरोडा पुलिस ने मृतक बच्ची की माँ फिर्यादि वर्षा विवेक उईके की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है ।

पुलिस के अनुसार आरोपी विवेक विश्वनाथ उईके (28) का वर्ष 2018 में वर्षा विवेक उईके (22) के साथ विवाह हुआ था. दम्पत्ति ने पहली संतान के रूप में वैष्णवी को जन्म दिया था. विवाह के बाद से ही विवेक आए दिन शराब पीकर वर्षा के साथ मारपीट करने लगा. इसके बावजूद भी वर्षा ने विवेक का साथ नहीं छोड़ा. लेकिन जब विवादों का सिलसिला जारी रहा तो वह तंग आकर भंडारा जिले की मोहाडी तहसील के खडकी पालोरा में अपने मायके जाकर रहने लगी. पश्चात विवेक ने एक दिन अपने साले राकेश घनश्याम कंगाले (19) से अपनी पत्नी और बेटी को लोणारा पहुंचाने के लिए कहा.  दिसंबर 2020 में वर्षा अपनी बेटी के साथ लोणारा पहुंची थी.

घटना वाले दिन 2 फरवरी की सुबह 8 बजे विवेक कोडेलोहारा में विवाह कार्यक्रम में गया हुआ था. वहां से वह कार्यक्रम निपटने के बाद शाम 7 बजे घर पहुंचा. इस दौरान बच्ची को कुछ खिलाने के लिए वर्षा ने पति विवेक से 5 रूपए की मांग की. बच्ची रो रही थी इसलिए वर्षा चाहती थी कि उसे कुछ खाने के लिए दिए जाने पर वह चुप हो जाएगी. इसीलिए वर्षा ने विवेक से 5 रूपए मांगे थे. लेकिन आरोपी ने 5 रूपए तो नहीं दिए बल्कि रो रही वैष्णवी को उसकी मां से छीन लिया और दरवाजे पर पटक-पटककर मार डाला. वर्षा ने विवेक को काफी रोकने का प्रयास भी किया. विवेक को धक्का देकर गिराया भी.

बच्ची को जैसे ही जमीन पर पटका, उसने शौच कर दिया. बेहोशी की हालत में पड़ी बच्ची को वर्षा अस्पताल लेकर जा रही थी कि पति ने फिर से वर्षा को दो थप्पड मारे और वह बच्ची को लेकर अस्पताल चला गया. लेकिन डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया. विवेक मृत बच्ची को लेकर घर पहुंचा.

इस संदर्भ में तिरोड़ा पुलिस ने फिर्यादि वर्षा विवेक उईके की शिकायत पर भादंवि की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. आरोपी को गिरफ्तार कर दिया गया है.

अलग रहता है परिवार
वर्षा की सास ताराबाई विश्वनाथ उईके (55) एवं देवर शुभम विश्वानाथ उईके (25) दोनों घर से सटकर ही रहते हैं. ससुर विश्वनाथ उईके (60) किसी काम से बाहर गांव चला गया था. वर्षा वन मजदूरी कर अपना और बच्ची का पालन कर रही थी.

Related posts