17 जनवरी को पिलाई जाएगी पोलियो की दो बूंद, गोंदिया सिटी में होंगे 96 पल्स पोलियो बूथ…

399 Views

पोलियो बूथ पर कर्मचारियों को मॉस्क, हैंड सैनिटाइजर और फिजिकल डिस्टेंस का पालन करना अनिवार्य…

आशा वर्करों को दिया गया पल्स पोलियो टीकाकरण प्रशिक्षण..

प्रतिनिधि।
गोंदिया। राष्ट्रीय पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के तहत इस वर्ष, 17 जनवरी को, 0 से 5 वर्ष की आयु के जिलेभर में 1 लाख 9 हजार 856 बच्चों को पोलियो ड्रॉप्स की दो बूंदें पिलाई जाएंगी। इसके लिए 1 लाख 39 हजार पोलियो ड्रॉप्स उपलब्ध कराई गई है।
  इस संबंध में, जिलाधिकारी दीपक कुमार मीणा की अध्यक्षता में 28 दिसंबर को पोलियो टीकाकरण के लिए जिला टास्क फोर्स की स्थापना की गई। जिला स्तरीय चिकित्सा अधिकारियों का प्रशिक्षण यूनिसेफ के विभागीय समन्वयक डॉ. साजिद, के नेतृत्व में आयोजित किया गया था। इसी दौरान तालुका टॉस्क फोर्स का गठन भी किया गया।
पल्स पोलियो माइक्रो एक्शन प्लान के तहत सिटी स्लैम एरिया, घुमंतू बस्तियां, ईट-भट्टा, नई कंस्ट्रक्शन साइट्स आदि हाई रिस्क एरिया मैपिंग की गई है।
    निवासी वैधकीय अधिकारी डॉ. सुवर्णा हुबेकर, के नेतृत्व में, आशा एएनएम व वॉलनटीयरों का पल्स पोलियो प्रशिक्षण कार्यक्रम आज 4 जनवरी 21 को गोंदिया के कुंभारे नगर में शहरी पीएचसी में आयोजित किया गया। इस दौरान डॉ. विजय वलेचा, पीएचएन निळू चुटे व गडलिंगकर आदी मार्गदर्शक के रूप में उपस्थित थे।
   गोंदिया सिटी में 96 पल्स पोलियो बूथ होंगे जिसके बाद 5 दिनों के लिए आईपीपीआई अभियान चलाया जाएगा। कोविड-19 की पृष्ठभूमि पर बूथ कर्मचारियों को मॉस्क, हैंड सैनिटाइजर और फिजिकल डिस्टेंस का पालन करते हुए ही बच्चों को पोलियो ड्रॉप्स पिलाने के निर्देश दिए गए।
   पोलियो बूथ पर 5 से अधिक लोगों की अनुमति नहीं है। जहां तक ​​संभव हो, प्रवेश और निकास अलग-अलग होंगे।  माता-पिता में केवल एक को बच्चे के साथ आने की अनुमति है। बुखार के लक्षण होने पर माता-पिता को बूथ में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी।
    पोलियो अभियान के तहत ट्रांजिट टीम रेलवे स्टेशन और बस स्टॉप पर पल्स पोलियो ड्रॉप्स का वितरण करेगी। जिला पल्स पोलियो अभियान की निगरानी डीएचओ डॉ. कापसे और सीएस डॉ. मोहबे द्वारा की जाएगी। ऐसी जानकारी शहरी टीकाकरण अधिकारी डॉ. सुवर्णा हुबेकर एवं मातृ एवं शिशु देखभाल अधिकारी डॉ. संजय पांचाल ने दी।

Related posts