गोंदिया: पुलिस को बार-बार चमका देने वाला ठगबाज संस्थाध्यक्ष नागमोती चंद्रपुर जिले से गिरफ्तार… खेत के बंद कमरे में बैठा था छुपा..

1,981 Views

तिरोडा के जागृति सहकारी पतसंस्था का करोड़ो रुपयों का गबन मामला..

अबतक संस्थाध्यक्ष सहित 3 आरोपी गिरफ्तार, 7 जनवरी तक पुलिस रिमांड में, बाकी आरोपियों को ढूंढ रही पुलिस..

हक़ीकत टाइम्स । 2 जनवरी
तिरोडा: हजारों जमाकर्ताओं से करोड़ों रुपये ठगने वाले 25 आरोपियों में से एक फरार मुख्य आरोपी को तिरोडा पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। मुख्य आरोपी चंद्रपुर जिले के ब्रम्हपुरी तालुका के चौगान गांव के बाहर एक बंद घर में छिपा था। यह कार्रवाई आज, शनिवार, 2 जनवरी, 2021 को सुबह 7:15 बजे की गई। मुख्य आरोपी भाऊराव नत्थूजी नागमोती (उम्र 58), अध्यक्ष, जागृति सहकारी पतसंस्था मुंडीकोटा हैं।

तिरोडा थाने के पुलिस निरीक्षक योगेश पारधी के अनुसार, तिरोडा पुलिस की एक टीम ने 30 दिसंबर, 2020 को नागपुर में आरोपी भाऊराव नागमोती के घर पर छापा मारा था। हालांकि, अभियुक्त के घर में ताला लगा हुआ था जिससे पुलिस को विफलता प्राप्त हुई। उसके बाद, पुलिस को गोपनीय सूचना मिली थी कि आरोपी नागमोती 31 दिसंबर, 2020 को मुंडिकोटा में अपने एक सेवानिवृत्ति समारोह में शामिल होगा। पर, कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था क्योंकि आरोपी को सूचित किया गया था कि पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए पूरी तैयारी कर ली है।आरोपी के न आने से पुलिस दूसरी बार फेल हुई।

उसके बाद पुलिस को आरोपी नागमोती की पूरी लोकेशन का पता चला। पुलिस ने कहा कि आरोपी नागमोती का एक मामला चंद्रपुर जिले के ब्रम्हपुरी में अदालत में लंबित है और वह 1 जनवरी 2021 को अदालत में पेश होगा। तब पुलिस ने ब्रम्हपुरी में एक जाल बिछाया। लेकिन चूंकि आरोपी वहां भी नहीं आया, इसलिए पुलिस का प्रयास विफल रहा।
इसके बाद भी तिरोडा पुलिस ने हार ना मानते हुए, सर्च ऑपरेशन जारी रखा और पुलिस को जल्द प्रकाश की किरण दिखाई दी।

पुलिस को गोपनीय सूचना मिली कि आरोपी नागमोती आरमोरी इलाके में आरोपियों के रिश्तेदारों के साथ है। पुलिस ने जरा भी समय ना गवांते हुए आज सुबह अपना वहां मोर्चा संभाल लिया। चंद्रपुर जिले के ब्रम्हपुरी तालुका में चौगान गांव के बाहर एक खेत में एक बंद घर था। चूंकि घर बाहर से बंद था, इसलिए किसी ने सोचा भी नहीं था कि कोई भी होगा। आरोपी का मोबाइल भी स्विच ऑफ था। लेकिन जब पुलिस को शक हुआ, तो उन्होंने गांव की पटेल को बुलाया और बंद घर का ताला खुलवाया, जहां मुख्य आरोपी भाऊराव नागमोती छिपा बैठा हुआ पाया गया। पुलिस ने उसे वहां से गिरफ्तार कर लिया।

तिरोडा पुलिस द्वारा की गई इस कार्रवाई को पुलिस अधीक्षक गोंदिया विश्व पानसरे, तिरोडा एसडीपीओ नितिन यादव के मार्गदर्शन में तिरोडा पुलिस थाने के मुख्य पुलिस निरीक्षक योगेश पारधी, पुलिस उपनिरीक्षक अशोक केंद्रे, गुप्तचर विभाग के सिपाही मुकेश महालगावे, पुलिस सिपाही सन्तोष समरीत द्वारा अंजाम दिया गया।

बताया गया कि जागृति पतसंस्था के 25 आरोपियों में से 3 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके है। इनमें नागमोती के आलावा लीलाधर यादोराव बांते 55 निवासी लेदड़ा, समीर लेखराम मेश्राम 29 निवासी पिंडकेपार का समावेश है। बाकी आरोपियों की पकड़ के लिए पुलिस दल के 6 पथक अलग अलग दिशाओं में जिले में, बाहरी जिले में अन्य राज्य में खोजबीन कर रहे है। पकड़े गए आरोपियों को पुलिस ने न्यायालय में पेश कर 7 जनवरी तक पुलिस रिमांड में लिया है।

Related posts