गोंदिया: पिंडकेपार सिंचन प्रकल्प और फुलचुर-फुलचुरपेठ सहित 5 ग्रामों की शुद्ध पेयजल पुर्ती योजना खटाई में -पूर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल

621 Views

फुलचुर-फुलचुरपेठ- कारंजा परिसर में हुई कार्यकर्ताओं की बैठक, पूर्व विधायक ने कहा, भाजपा के पुराने कार्यकर्ता पुरानी बातें भूलकर फिर वापस लौटे आये भाजपा में..अच्छे और सच्चे मन से करेंगे स्वागत..

प्रतिनिधि।
गोंदिया : कोरोना लॉकडाऊन के बाद अब पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने गोंदिया तालुका में पुनःसभी प्रमुख कार्यकर्ताओं से जनसंपर्क अभियान की शुरुआत कर दी है।, जिसके तहत 31 अक्टूबर को ग्राम फुलचुर, फुलचुरटोला, कारंजा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की सभा पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल, पुर्व जि.प.सदस्य राजेश चतुर, भाजपा के दीपक कदम पुर्व सरपंच अशोक लिचडे, पुर्व पं. स. सदस्य योगराज उपराड़े, पुर्व ग्रा.पं.सदस्य गंगाराम बावणकर (बड़ेवाले), पुर्व ग्रा.पं. सदस्य गणेश धोटे, तालुका भाजपा अध्यक्ष नंदुभाऊ बिसेन एवम् कृउबास उपसभापती धनलाल ठाकरे की प्रमुख उपस्थिती में संपन्न हुई।
   सभा में कार्यकर्ताओं से पक्ष संगठन को मजबुत करने, कार्यकर्ताओं में आपसी समन्वबय बढ़ाने एवम् आगामी जिला परिषद और पंचायत समिती चुनावों में पक्ष के संभावित उम्मीदवारों हेतु रणनीति तैयार करने के विषयों पर चर्चा हुई।
   बैठक में क्षेत्र के पुर्व जि.प.सदस्य राजेश चतुर ने कहा की विगत विधानसभा चुनाव में क्षेत्र के जुझारु पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल को अपेक्षाकृत परिणाम भले ही न मिले हो, लेकिन यह विशेष उल्लेखनीय है की २०१४ में मिले ६२ हजार मतों की अपेक्षा इस बार ७६ हजार मत हम सबकी मेहनत से प्राप्त हुए है। जनता में कुछ भ्रम और रोष की परिस्थिती बनी, जिससे परिणामों से निराशा हुई, लेकिन इस हार को हम संगठन को नई मजबुती देकर आगामी जिला परिषद, पंचायत समिती और ग्राम पंचायत चुनावों में जीत में बदल सकते है। अब हमारे पास गोपालदास अग्रवाल जैसा कुशल नेतृत्व और कार्यकर्ताओं की लंबी फौज है, सबने मिलकर मेहनत की तो भविष्य में जीत हमारी होंगी। हम गोपालदास अग्रवाल के कार्यकर्ता है, उन्होंने सेवा सहकारी से लेकर जिला परिषद, पंचायत समिती, ग्राम पंचायत हर स्तर में कार्यकर्ताओं के पीछे ताकत से खड़े रहने का काम किया है, उनके और हमारे संगठन के जुड़ जाने से इस गोंदिया तालुके में हमारी जड़े और भी मजबुत हुई है।
     पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने कहा की कोरोना महामारी के कारण विगत कुछ माह से उनके क्षेत्र में दौरे नहीं हो पाये, लेकिन कार्यकर्ताओं से बराबर संपर्क बनाये रखा। हर कार्यकर्ता को अब पुरानी कुछ चुनावी बातें भुलाकर एक नई शुरूआत करनी है। हमने भाजपा में प्रवेश किया है और राजनीति में सम्मान के लिये हर कार्यकर्ता कार्य करता है। भाजपा में हर कार्यकर्ता को सम्मान मिले इसका पुरा ख्याल रखा जायेगा। लेकिन जो भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने गत चुनाव में चाबी का कार्य कर भाजपा के अधिकृत उम्मीदवार को हराने का कार्य किया है, एक बार उन्हें भी पुरानी बातें भुलाकर साथ जोड़ने की हमारी तैयारी है। संगठन को मजबुत करने के लिये जो भी पुराने भाजपा कार्यकर्ता पक्ष में जुड़ना चाहते है, उनका हम सच्चे-अच्छे मन से स्वागत करेंगे, ऐसे उद्गार पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने व्यक्त किये।
     उन्होंने आगे कहा की जनप्रतिनिधीयों का ध्यान क्षेत्र के विकास की ओर नहीं होने से उनके चुनाव पुर्व लाई गई विकास योजनाएं एक-एक कर रद्द हो रही है। पिंडकेपार सिंचन प्रकल्प के भुमि अधिग्रहण हेतु ७८ करोड़ रु. की निधी क्षेत्र के किसानों को ५० लाख रु. हेक्टरी दर से मिलनी थी, लेकिन।पैसा वापस चला गया और योजना खटाई में पड़ गई। पिंडकेपार सिंचन प्रकल्प के पानी से फुलचुर-फुलचुरटोला-कारंजा-पिंडकेपार-मुर्री ग्राम के लिये संयुक्त शुद्ध पेयजल पुर्ती योजना व जलशुद्धीकरण योजना की मंजुरी कराई थी, लेकिन पिंडकेपार प्रकल्प के खटाई में पड़ने से, शुद्ध पेयजल योजना का भविष्य भी खतरें में है। नागरीकों ने विधानसभा चुनाव में जो भी निर्णय लिया वह मान्य है, लेकिन उक्त निर्णय से क्षेत्र को हो रहे नुकसान निश्चित रुप से चिंता का विषय है।
    तालुका भाजपा अध्यक्ष नंदुभाऊ बिसेन ने कहा कि सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर काम करें। जिस तरह पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने सभी भाजपा कार्यकर्ता को पुनः पक्ष से जुड़ने का आव्हान किया है, मै भी सभी भाजपा कार्यकर्ताओं को पुनः आग्रह करता हूंँ कि “छोड़ो कल की बाते, कल की बात।पुरानी, नये दौर में गोपालदासजी अग्रवाल के साथ लिखेगे हम मिलकर नई कहानी”।
    सभा में प्रमुख रुप से तालुका भाजपा अध्यक्ष नंदुभाऊ बिसेन, कृउबास संचालक अरुणकुमार दुबे, ग्राम रापेवाडा के सरपंच जीवन चौव्हाण, पुर्व जि.प.सदस्य राजेश चतुर, जयचंद पारधी, कृष्णभाऊ रहांगडाले, ग्राम फुलचुरटोला के पुर्व सरपंच जीवन बन्सोड, पुर्व सरपंच लक्ष्मीबाई निर्वीकार, ग्रा.पं.सदस्य कृष्णा बावणे, ग्रा.पं.सदस्य श्याम कावळे, तंटा मुक्ती समिती अध्यक्ष मनिष गौतम, उपसरपंच रवि बोदानी, ग्रा.पं.सदस्य सुरेखाबाई भेंडारकर, कारंजा के उपसरपंच महेन्द्र सहारे, कारंजा सरपंच श्रीमती उपराड़े, उपसरपंच प्रेमेंद्र तुरकर, ग्रा.पं.सदस्य सौ. सुरेखा भेंडारकर, सौ. जयतुरा बावने, सौ.इंदिरा कटे, सौ.निशा उईके, सौ.अर्चना राऊत, सौ.लक्ष्मी निर्विकार, शिवलाल ढेकवार, दिनेश तिडके, महेन्द्र शहारे, दादु ठाकरे, सुनिल पारधी, गंगाराम बावनकर, धनराज तिडके, जे.के.जाधव, निलाराम राणे, विजय शेंदरे, डॉ.जीवन चौव्हाण, तिलकचंद टेंभरे, जयचंद पारधी, लालचंद तुरकर, योगराज उपराडे, जगदिश तिडके,।राजेन्द्र पेंदाम, चैतराम मुकुटे, आतदराम येडमे, मनोज डोंगरे, कन्हैया धापा, सौ.कुंता राऊत, सौ. हेमलता मौदेकर, सौ.पारबता चिंधालोरे, सौ.सुरेखा राऊत, सौ जयश्री रामटेके, सौ.रेखाबाई येळमे, सौ. पुर्णाबाई कोडापे, सौ.बेलाबाई उईके, सौ.चंद्रलेखाबाई कोडापे, सौ.विठाबाई उईके, सौ.प्रमीला राऊत, सौ. साधना तिडके, राजुन, सहरा शेखद, सौ.संगीता मडावी, दिक्षा तिडके, निलेश लिल्हारे, आर.बी., जीवन बन्सोड, शईद खान पठान, बसंत चामलाटे, फारन्दु भाई, राजेश पटले व ग्रामवासी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Related posts