गोंदिया: मावा-तुड़तुड़ा बीमारी से फसलें चौपट, परेशान किसान ने खड़ी फसल को लगाई आग

580 Views

कांग्रेस नेता अशोक(गप्पू) गुप्ता ने किया फसलों का निरीक्षण, जिलाधिकारी, कृषि अधिकारी को दिखाएंगे बर्बाद फसल, शासन से आर्थिक मुआवजे की मांग

हकीक़त न्यूज।
गोंदिया। तहसील में इस समय किसानों पर दुबले पर दो आषाढ़ की आफत मंडरा रही है। किसानों द्वारा कड़ी मशक्कत व कर्जा लेकर लगाई गई धान की फसलों की जब कटाई कर लाभ उठाने का समय आया, तब ऐन वक्त पर धान कटाई के पूर्व सैकड़ो एकड़ पर लगी धान की फसलें मावा और तुड़तुड़ा जैसे रोग से 70 से 80 प्रतिशत बर्बाद हो गई।
   कांग्रेस के युवा नेता अशोक (गप्पू) गुप्ता को उनके संम्पर्क के किसानों से जैसे ही पता चला, उन्होंने लोहारा एवं अन्य गाँव में भेंट देकर खेतों का निरीक्षण किया। देखा गया कि रोग ने खड़ी फसलों को पूरी तरह नष्ट कर दिया है। आर्थिक तंगहाली व कोविड संकट के दौर से गुजर रहा किसान पूरी तरह बर्बाद हो गया है। ग्राम लोहारा में वहां के किसान ने इन फसलों को जला दिया।
    अशोक (गप्पू) ने कहा, फसलें 70 से 80 प्रतिशत बर्बाद हो गई है। इसी तरह 7-8 साल पूर्व फसलों में मावा-तुड़तुड़ा रोग फैला था, तब कांग्रेस-रांका की वर्तमान सरकार ने फसलों का सर्वे कराकर आकस्मिक फसल मुआवजा मुहैया कराया था। हमनें विधानसभा अध्यक्ष एवं किसानों के हितचिंतक नानाभाऊ पटोले को जानकारी दी है। उन्होंने इसे गंभीरता से लेकर कल रविवार 1 नवम्बर को आ रहे है।
   गुप्ता ने कहा, हम चौपट फसलों की पेंडी कृषि अधिकारी, जिलाधिकारी को देकर त्वरित पूरे तहसील की फसलों का सर्वे करने तथा उसका पंचनामा कर सरकार से आर्थिक मुआवजे की मांग करेंगे। उन्होंने कहा, किसान हर हाल में इस वर्ष परेशान है। कर्ज लेकर फसलें लगाया था, जो बर्बाद हो गई है। जानवरो के खाने लायक भी चारा नहीं है। बर्बाद फसलों को ठिकाने लगाने पैसे भी नहीं है। इसलिए किसान मजबूरी में फसलें जला रहा है। उन्हें हर तरह से आर्थिक योगदान सरकार से मिलना चाहिए।

Related posts