महामानवों के जयंती अवसर पर शराब-माँस बिक्री पर सख्ती से प्रतिबंध लगाए प्रशासन- सर्वसमाज संगठन की मांग

59 Views

 

गोंदिया:- जिन महामानवों ने मानव कल्याण हेतु आजीवन संघर्ष किया शिक्षा समता बंधुता न्याय स्वतंत्रता मानवीय मूल्यों को समाज मे रोपित किया, मादक पदार्थ पेय से दूर रहने नशामुक्ति का संदेश दिया तथा भारतीय संविधान के अनुच्छेद 47 में स्वास्थ्य के लिए नुकसान पहुंचाने वाले मादक पेय पदार्थों पर प्रतिबंध का जिक्र किया ऐसे महामानवो के जयंती अवसर पर शराब तथा मांस बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग का निवेदन पत्र/ ज्ञापन सर्वसमाज संगठनो द्वारा माननीय जिलाधिकारी एवं माननीय पोलीस अधीक्षक को दिया गया.

ज्ञापन देनेवालो मे प्रमुखतासे सर्वसमाज विचार महोत्सव समिती अध्यक्ष प्रा.डॉ. दिशा गेडाम, समता सैनिक दल कमांडर किरण वासनिक, ज्येष्ठ नागरिक मित्र मंडल के वसंत गवळी, ओबीसी सेवा संघ, संघर्ष कृती समिती के सिपी बिसेन, कैलाश भेलावे, जेसीआय गोंदिया सेंट्रल के पुरुषोत्तम मोदी, युवा बहुजन मंच के सुनील भोंगाडे, रवी भांडारकर, युवा ग्रॅज्युएट फोरम के उमेश कटरे, स्वाती वालदे, आनंद राहुलकर, शैलेंद्र चौरे, संविधान मैत्री संघ संयोजक अतुल सतदेवे शामिल थे. ज्ञापन उपजिला चुनाव अधिकारी सुभाष चौधरी तथा पोलीस अधीक्षक निखिल पिंगळे ने स्वीकारा.

इस ज्ञापन के माध्यम से निवेदन किया गया की बाबासाहब डॉ.भीमराव आंबेडकर, तथागत गौतम बुद्ध एवं संयुक्त रूप से सम्राट अशोक महान, महात्मा ज्योतिबा फुलेजी इन महामानवो की हर साल अप्रैल-मई माह मे जयंती मनाई जाती हैं। इस दौरान कुछ असामाजिक तत्व उन्मादी, गुंड प्रवृत्ति से प्रेरित कुछ लोग शराब पीकर नशा करके फिल्मी अश्लील गीतों पर नाचना गाना, डीजे बजाना आदि करते है जो कि मानवतावादी विचारधारा के विसंगत आचरण है। जयंती उत्सव कार्यक्रम दौरान अनुयायियों की अत्याधिक भीड़ होती है. मादक पदार्थ- शराब सेवन से लड़ाई झगड़ा फसाद की संभावना बनी रहती है. लेकिन शराबबंदी से पर्याप्त शमन तथा इस तरह के मामले कम होंगे. महामानवों की विश्वस्तरीय विद्वत्ता -विचारधारा के अनुरूप अनुयायीयों का आचरण हो इस प्रयास उद्देश्य से शिक्षा क्रांति के प्रणेता महात्मा फुले जयंती 11 अप्रैल, विश्व ज्ञान प्रतीक संविधान निर्माता बाबासाहब डॉ. भीमराव आंबेडकर जयंती 14 अप्रैल तथा विश्व को शांति का संदेश देनेवाले तथागत बुद्ध जयंती 5 मई अवसर पर गोंदिया जिले में किसी भी प्रकार के पशु वध, मांस, मछली व शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने एवम ड्राई डे का कड़ाई से पालन, चोख बंदोबस्त रखने हेतु बौद्ध- सर्वसमाज संघटन द्वारा ज्ञापन दिया गया तथा इस ज्ञापन के माध्यम से नशामुक्त, हिंसामुक्त वातावरण बनाये रखने की अपील की गयी है.
इसी समान विषय को लेकर डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर सार्व. जयंती उत्सव समिति ने भी साथ साथ ज्ञापन दिया. ज्ञापन देते समय अध्यक्ष अक्षय वासनिक, अरविंद नागदेवे, रतन वासनिक, नागरत्न बंसोड़, प्रतीक बंसोड़, मिलिंद बागडे, संकेत कठाने, निशांत वाहने, सागर गेडाम, तेजस चहांदे प्रमुखता से उपस्थित थे.

Related posts