गोंदिया: तीन जिंदगीयों को मौत के घाट उतारने वाले नराधमी को हो फांसी, फास्ट ट्रैक में चले मुक़दमा

1,483 Views

सूर्याटोला वासियों ने मुख्यमंत्री के नाम जिलाधिकारी को सौंपा निवेदन

प्रतिनिधि। (22फरवरी)
गोंदिया। एक पति द्वारा घर में सोती हुई पत्नी, मासूम बेटे और ससुर को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने के मामले ने महाराष्ट्र सहित पूरे देश, समाज को झकझोर दिया है। इस कृत्य को लेकर समाज में गुस्सा है और इस घटना को अंजाम देने वाले नराधमी आरोपी को फांसी देने की मांग उठ रही है।
गौरतलब है कि 14-15 फरवरी की रात आरोपी दामाद किशोर शेंडे निवासी भीवापुर तहसील तिरोड़ा, जिला गोंदिया ने गोंदिया शहर के सूर्याटोला परिसर स्थित अपने ससुराल में घर के भीतर सो रही पत्नी आरती किशोर शेंडे (35), बेटे जय किशोर शेंडे(5वर्ष) एवं घर के बाहर सो रहे ससुर देवानंद मेश्राम (52वर्ष) पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी एवं वहां से फरार हो गया था।
इस भयावह कृत्य में ससुर देवानंद मेश्राम की मौके पर ही जिंदा जलकर मौत हो गई, जबकि पत्नी आरती शेंडे व बेटे जय शेंडे को पड़ोसियों की मदद से बचाकर अस्पताल रेफर किया गया था, जहां उनकी भी उपचार के दौरान मौत हो गई।
इस जघन्य व समाज को शर्मसार करने वाली घटना से क्षुब्ध नागरिकों ने मोर्चाबंदी कर महाराष्ट्र सरकार से आरोपी पर फ़ास्ट ट्रैक अदालत में मुकदमा चलाने की मांग कर जल्द आरोपी को फांसी की सजा दिलाने, पीड़ित परिवार को शासन की ओर से मदद राशि मुहैया कराने की मांग इस पत्र के माध्यम से समाज बंधुओं ने जिलाधिकारी के मार्फ़त मुख्यमंत्री, बाल व महिला कल्याण मंत्री, स्थानीय विधायक को सौंपकर की है।

Related posts