मैं हवा में बात नहीं करता, धान उत्पादक किसानों का भविष्य अच्छा नहीं- केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

2,703 Views
प्रतिनिधि। 29 मई
गोंदिया। 349 करोड़ रुपयों की लागत से किये जा रहे तीन कार्यो के शुभारंभ अवसर पर गोंदिया आये केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने धान (चावल) खरीदी की शासकीय स्तर पर मर्यादा बढाने के मामले पर मौजूदा हालात पर गंभीर बात कही।
नितिन गडकरी ने कहा, हमारे देश में चावल सहित कई खाद्यान्न का अपार भंडार है। रखने के लिए गोदाम नहीं है। धान उत्पादक किसानों की वर्तमान स्थिति को देख केंद्रीय मंत्री ने कहा, चावल उत्पादक किसानों का भविष्य अच्छा नहीं है। ये बात मैं हवा में नही कह रहा। हमें चावल के साथ-साथ अब तेल की तरफ ध्यान केंद्रित करना चाहिए। देश मे तेल की आवश्यकता है। धान से राइसब्रान, सोयाबीन, सरसों, सनफ्लावर की खेती करना चाहिए।
हमनें गन्ने के रस से एथेनाल, चावल की कनकी से इथेनॉल बनाने पर ध्यान केंद्रित किया है। अभी पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल का उपयोग किया जा रहा है जिसे आगे और बढ़ाया जाएगा। कहते है जो पाप करता है वो सुगर फैक्ट्री डालता है। पर मेरे गले लटकाकर भागने वाले लोगो को मैंने बता दिया कि जो काम लेता हूँ उसे छोड़ता नही।
केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा, हम चावल के टुकड़ों से इथेनॉल बनाने की प्रक्रिया पर कार्य करेंगे। इसके लिए 600 करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट है। करीब 5 हजार लोगो को रोजगार मिलेगा। मैंने अपना ट्रैक्टर सीएनजी कर लिया है और साल में 1 लाख रुपये की बचत हो रही है। उन्होंने गोंदिया जिले के किसानों को भी अपने ट्रैक्टर सीएनजी करने की सलाह दी।

Related posts