गोंदिया पंचायत समिति में कामकाज संभाला सभापति मुनेश रहांगडाले ने, पहले ही दिन सुस्त चाल वाली पंस को “विकास के रफ्तार” में लाने का संकल्प..

947 Views

 

प्रतिनिधि। 09 मई
गोंदिया। ग्राम पंचायत एवं जिला परिषद के बीच की कड़ी के रूप में राज्य और केंद्र सरकार की विविध योजनाओं को ग्रामीण जनता के बीच पहुँचाने का कार्य करने वाली पंचायत समिति का तहसील स्तर पर महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसी पंचायत समिति के माध्यम से तहसील में विकास कार्यो का प्रारूप तैयार कर उसे साकार करने का कार्य किया जाता है।

3 माह पूर्व हुए पंचायत समिति के चुनाव में गोंदिया क्षेत्र की ग्रामीण जनता ने सभी पक्षों को दूर रखकर गोंदिया विधानसभा क्षेत्र के जनता की पार्टी के आमदार विनोद अग्रवाल के कार्य करने की शैली से प्रभावित होकर उनके चाबी संगठन को सहयोग कर सर्वाधिक सीटों पर विजयीश्री दिलाई थीं। जनता की पार्टी ने एनसीपी, बीएसपी एवं निर्दलीय पंस सदस्य को साथ लेकर गोंदिया की पंचायत समिति में सत्ता काबिज कर अपना परचम लहराया।

पंचायत समिति गोंदिया में नए सभापति के रूप में निर्वाचित शिक्षित, अनुभवी और दमदार मुनेश रहांगडाले के आने से सुस्त पड़ी गोंदिया पंस में जान आ गई है। विशेष है कि पंस सभापति मुनेश रहांगडाले तांडा ग्राम पंचायत से सरपंच भी है एवं वे पिछले अनेक वर्ष से सरपंच-उपसरपंच संगठन का नेतृत्व करते आ रहे है।

सभापति बनने के बाद आज 9 मई को मुनेश रहांगडाले ने गोंदिया पंचायत समिति में पहुँचकर अपने पहले दिन का कामकाज संभाला। इस दौरान उनके साथ उपसभापति नीरज उपवंशी एवं सभी पंचायत समिति सदस्य मौजूद रहे।

पंचायत समिति के खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) श्री खोटोले एवं अन्य अधिकारी व कर्मचारियों ने सभापति, उपसभापति एवं पंस सदस्यों का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया।

पहले दिन का कामकाज संभालते ही सभापति मुनेश रहांगडाले ने सुस्त पड़ी पंस के कामकाज को पटरी पर लाने पर जोर दिया वहीं अधिकारी व पदाधिकारी के बीच समन्वय बेहतर व सुदृढ़ रखने पर जोर दिया।

सभापति श्री रहांगडाले ने कहा, हम यहां केबिन में बैठने का राजकरण करने नही, ग्राऊंड लेवल पर बाहर निकल कर कार्य करने आये है। मैं सभापति बनने के पूर्व यहाँ के हालातों से अच्छी तरह वाकिफ हूँ। इसलिए मेरा हर कदम सिस्टम को बेहतर करने पर होगा।

कृषि, शिक्षा, प्रशासन, वित्त, स्वास्थ्य, समाज कल्याण, महिला एवं बालविकास, लोकनिर्माण कार्य, पशुपालन, लघु सिंचाई योजना, भवन निर्माण, घरकुल योजना, कुटीर उद्योग, स्वच्छता, जलापूर्ति, खेलकूद एवं सांस्कृतिक कार्यकलाप, ग्राम पंचायत के क्रियाकलापों का समन्वय व मूल्यांकन व मार्गदर्शन,।केन्द्र सरकार, राज्य सरकार व जिला परिषद द्वारा सौंपी गई स्कीमों के निष्पादन को सुनिश्चित करने पर जोर दिया।

पहले दिन की बैठक में पंचायत समिति सदस्यों में शैलजाताई सोनवाने, कनीराम तावाड़े, शिवलाल जमरे, राजेश जमरे, राहुल मेश्राम, शशि राजू कटरे, मंजू डोंगरे, मीनाक्षी बारलिंगे, विद्याकला पटले, वंदना पटले, नंदिनी लिल्हारे के अलावा भाऊराव ऊके, लखनभाऊ मेंढे, कमलेश सोनवाने, धर्मेंद्र डोहरे, बाबा चौधरी, राजू कटरे
सौ.रहांगडाले मॅडम पंस सदस्य काटी, मोहन गौतम, लतीश बीसेन, विक्की बघेले, प्रकाश तांडेकर, प्रदीप न्यायकरे, श्रीमती नमीता वर्मा सरपंच नवरगांव खुर्द, सौ.संगीता रहांगडाले सरपंच नीलज, बोहने मॅडम सरपंच सोनबिहरी, गीरजाशंकर लील्हारे, कमल धोटे सरपंच फुलचुरटोला, कमलेश नागपुरे सरपंच महालगांव, कल्लु मसकरे सरपंच दवनीवाडा, गुडु लील्हारे, मुरली नागपुरे, श्री ग्यानचंद जमईवार,अनीलजी मते, आत्माराम दसरे आदि सहित अनेकों की उपस्थिति रही।

Related posts