गोंदिया: 65 हजार की रिश्वत लेता धरा गया देवरी पंस का घूसखोर बीडीओ, एसीबी की कार्रवाई…

486 Views
क्राइम रिपोर्टर। 02 मार्च
गोंदिया। देवरी पंचायत समिति में गटविकास अधिकारी (बीडीओ) चंद्रमणि लक्ष्मण मोडक द्वारा बिल मंजूर करने व 15वें वित्त आयोग अंतगर्त मंजूर कामों के इस्टीमेट पर हस्ताक्षर करने के एवज में 65 हजार रुपयों की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए। ये कार्रवाई आज 2 मार्च को एन्टी करप्शन ब्यूरो, गोंदिया की टीम द्वारा पंचायत समिति देवरी में की गई।
इस मामले के संदर्भ में जानकारी दी गई कि, शिकायतकर्ता संस्था का सदस्य होकर संस्था की ओर से देवरी तहसील में ग्रामपंचायत को विविध शासकीय योजनाओं अंतर्गत सुरु काम हेतु ग्रापं की ओर से टेंडर के बाद विविध साहित्य उपलब्ध कराने का काम संस्था द्वारा किया जा रहा है। पंस देवरी मार्फ़त बिल मंजूर होने के बाद संस्था को मिलता है। संस्था को मिले काम से लेकर टेंडर, बिल आदि के कार्य शिकायत कर्ता ही संभालता है।
मनरेगा अंतर्गत वर्ष 2017 में ग्राम भागी व पिंडकेपार में रास्ता बांधकाम व खडीकरण काम मंजूर हुआ था। इस काम का ग्रापं को टेंडर मिलने पर शिकायत कर्ता की संस्था ने दोनों ग्राम पंचायत को इस काम हेतु 38 लाख रुपये का साहित्य उपलब्ध कराया था। मनरेगा अंतर्गत दोनों ग्रापं के बिल मंजूरी हेतु भेजने शिकायत कर्ता की ओर से आलोसे ने इसके पूर्व 30 हजार रुपये लिए थे। शेष 60 हजार रुपये व 15वें वित्त आयोग अंतर्गत ग्रामपंचायत भागी/सिरपुर हेतु मंजूर हुए 10 लाख रुपये के काम पर हस्ताक्षर कर इस्टीमेट देने के बदले 10 हजार रु लिए व शेष 10 हजार रु ऐसा कुल 70 हजार रु की रिश्वत की मांग की गई।
परंतु शिकायतकर्ता को ये रिश्वत की रकम देना नागवार गुजरा, उसने इसकी शिकायत 17 फरवरी 2022 गोंदिया एन्टी करप्शन ब्यूरो कार्यालय में दर्ज कराई। इस रिश्वत मामले पर एसीबी ने सम्पूर्ण जांच कर आज 2 मार्च को जाल बिछाकर अपने पद का दुरूपयोग करने व बिल मंजूर के नाम पर तथा 15वें वित्त आयोग अंतर्गत मंजूर इस्टीमेट पर हस्ताक्षर करने के एवज में 65 हजार रिश्वत लेते देवरी बीडीओ मोडक को पंच के समक्ष रंगेहाथ गिरफ्तार किया।
एसीबी ने आरोपी के विरुद्ध देवरी थाने में भ्रष्टाचार प्रतिबंधक अधिनियम 1988 की धारा 7 के तहत मामला दर्ज किया।
ये कार्रवाई एसीबी नागपुर के पुलिस अधीक्षक राकेश ओला, अपर पुलिस अधीक्षक मधुकर गीते के मार्गदर्शन में गोंदिया एसीबी के पुलिस उप अधीक्षक पुरुषोत्तम अहेरकर, सफौ खोब्रागडे, पोहवा राजेश शेन्द्रे, नापुसि राजेन्द्र बिसेन, मंगेश काहालकर, सन्तोष बोपचे,  संतोष शेंडे,  मनापुसि संगीता पटले, चालक नापुसि दीपक बाटबर्वे का समावेश रहा।

Related posts