गोंदिया: मंसूबे हुए नाकाम, प्राणघातक हमला करने उद्देश्य से नक्सलियों द्वारा छुपाकर रखा गया भारी मात्रा में विस्फोटक जब्त

497 Views

केशोरी थाना क्षेत्र के उमरपायली, आंबेझरी जंगल परिसर में पुलिस कार्रवाई..

क्राइम रिपोर्ट। 06 अक्तूबर
गोंदिया। पिछले अनेक दिनों से शांत नक्सलियों के मंसूबे फिर तेज गतिविधियों में दिखाई दे रहे है। पुलिस पार्टी पर प्राणघातक हमला करने के उद्देश्य से जंगल परिसर में छुपाकर रखा गया विस्फोटक पुलिस सर्चिंग के दौरान भारी मात्रा में बरामद हुआ है।
ये विस्फोटक सामान गोंदिया जिले के केशोरी थाना अंतर्गत सुदूर जंगल क्षेत्र उमरपायली, आंबेझरी जंगल परिसर में सर्चिंग में आज 6 अक्टूबर को बरामद हुआ है।
दरअसल, ये कार्रवाई पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे को मिली एक विश्वनीय जानकारी के बाद कि गई। उन्हें खबर मिली थी कि, नक्सली फिर उमरपायली और आंबेझरी के जंगल में पुलिस पार्टी पर प्राणघातक हमले का मंसूबा बना रहे है। इसके लिए उन्होंने भारी मात्रा में विस्फोटक छुपाकर रखा हुआ है।
ये खबर मिलते ही, पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर, देवरी कैम्प के प्रभारी एसडीपीओ जगदीश पांडे के मार्गदर्शन में एक बड़ी टीम तैयार की गई। टीम में सी-60 कमांडो पथक नवेगांव बांध, देवरी, विशेष पथक के अधिकारी, पुलिस जवान, बीडीडीएस पथक एव श्वान लारा के साथ उमरपायली आंबेझरी जंगल परिसर में सर्च ऑपरेशन चलाया गया।
सर्चिंग के दौरान अतिसंवेदनशील आंबेझरी जंगल पहाड़ी परिसर पर नक्सलियों द्वारा घातपात के इरादे से छुपाकर रखा गया विस्फोटक बरामद हुआ। बरामद विस्फोटक में 23 जिलेटिन की छड़, 1 डायनोमा, 67 नग डेटोनेटर, 90 फुट इलेक्ट्रिक वायर,  एक सफेद पॉलीथिन में 5 किलो ग्राम विस्फोटक मिश्रण, गुलाबी पॉलिथीन में 5 किलो ग्राम विस्फोटक मिश्रण, 5 वायर बंडल, प्लास्टिक सिरिंज, 50 लीटर क्षमता का प्लास्टिक ड्रम व अन्य साहित्य बरामद किया।
इस मामले पर केशोरी थाने में धारा 307, भादवि, सह कलम 4, 5 भारतीय विस्फोटक पदार्थ कानून, सह कलम 18, 20, 23 यूएपीए नक्सली विरुद्ध अपराध दर्ज किया गया। आगे की जांच एसडीपीओ जगदीश पांडे द्वारा की जा रही है।

Related posts