सावधान: जंगल में वन्य प्राणियों का खतरा, ना जाये जंगल, वनविभाग का फ़रमान

726 Views

मृतक पुनाजी मेश्राम पर हुए वन्यजीव के हमले पर फोरेंसिक लैब में भेजे गए नमूनें, हमला किस हिंसक वन्यजीव ने किया रहस्य बरकरार…!!

प्रतिनिधि। 23 जुलाई
गोंदिया। हाल ही में 21 जुलाई को कक्ष क्र 448, सरंक्षित वन गोरेगाव वनक्षेत्र परिसर में रेलवे रुट के पास हुई पुनाजी मोहन मेश्राम की वन्यजीव के हमले में मौत पर अबतक किस वन्यजीव द्वारा हमला हुआ इसकी पुष्टि वनविभाग द्वारा नहीं हुई है।
वनविभाग द्वारा प्रथमतः की गई जांच कार्रवाई में किसी हिंसक वन्यजीव के हमले में मौत होना सामने आया है। बहरहाल वनविभाग कैमरा ट्रैपिंग के साथ ही मृतक के शव के नमूनें जांच हेतु फोरेंसिक लैब भेजे जाने की बात सामने आयी है।
वनविभाग ने मनुष्य पर हुए वन्यजीव के हमले के बाद आज एक प्रेस नोट जारी कर मनुष्य व पशु हानि रोकने हेतु जंगल परिसर से लगे भड़गा, पिंडकेपार, कटंगी, मुंडिपार, गर्रा, जानाटोला, सोडलागोंदी, जांभुलपानी, गोरेगाव, मुरदोली एवं अन्य परिसर के लोगों से आव्हान किया है कि वे इस दौरान अकेले या दुकेले जंगल में जाने से बचे।
वनविभाग ने कहा, इस समय जंगल में वन्यजीव का खतरा निर्माण है। क्षेत्र में बाघ, तेंदुआ, भालू एवं अन्य वन्यजीव की आहट देखी गई है। जंगल क्षेत्र में अगर किसी भी प्रकार की पशु व जनहानि होती है तो तत्काल गोरेगाव वनपरिक्षेत्र विभाग को सूचित करें।

Related posts