गोंदिया: उस अज्ञात महिला के मर्डर का हुआ खुलासा, बुटिबोरी, भंडारा व दूधा से 3 आरोपी गिरफ्तार

957 Views

महिला को रास्ते से हटाने प्रेमी ने दोस्तों के साथ रची थी हत्या की साजिश, 23 जुलाई तक पीसीआर

रिपोर्टर। 19 जुलाई
गोंदिया। 23 जून 2021 को सुबह के दौरान जिले के चिचगड़ पुलिस थाना क्षेत्र के ढासगाव(पिपरखारी) रोड में स्थित जंगल में एक महिला की लाश मिली थी। चिचगड़ पुलिस ने खबर मिलते ही मौके पर पहुँचकर लाश व परिसर का मुआयना किया था। अज्ञात महिला के गले व सिर पर धारदार हथियार से वार कर उसकी निर्मम हत्या की गई थी तथा लाश को सड़क से 25 फुट दूर ढांसगाँव जंगल में फेककर आरोपी फरार हुए थे।
इस मामले में चिचगड़ पुलिस ने फिर्यादि गणेशराम मिताराम मारगाये 67 निवासी वर्ष मोहांड़ी तह. चिचगड़ की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 302 भादवि के तहत मामला दर्ज कर  पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे के मार्गदर्शन में एसडीपीओ देवरी जालिंदर नालकुल को जांच सौंपी गई।
पुलिस ने इस अंधे हत्याकांड को सुलझाने तथा अज्ञात मृतक महिला की शिनाख्त हेतु सोशल मीडिया में फ़ोटो डाली, तलाश पत्रिका में हुलिया जारी कर सभी थानों में एवं अखबारों में प्रकाशित करवाई। परंतु पुलिस को कोई सफलता प्राप्त नही हुई। पुलिस ने चार टीम तैयार कर आसपास के जिलो एवं छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश के जिलों में टीम पहुँचाकर वहां खोजबीन की, फिर भी पुलिस बैरंग लौटी।
आखिरकार पुलिस को एक खबर विश्वसनीय सूत्रों से प्राप्त हुई। ये खबर कितनी पक्की है इस हेतु पुलिस टीम ने सायबर सेल, तकनीकी यंत्रणा व पुलिस टीम तैयार कर भंडारा, बुटिबोरी, दूधा, सायकी जिला नागपुर में खोजबीन शुरू की जहाँ पुलिस को सफलता प्राप्त हुई।
पुलिस टीम ने भंडारा, बुटिबोरी, दूधा/मांगली से 3 आरोपियो को हिरासत में लिया। इनमें समीर असलम शेख 26 निवासी बावलानगर बुटिबोरी, आसिफ शेरखान पठान 35 निवासी बाबा मस्तानशाह वार्ड भंडारा एव प्रफुल्ल पांडुरंग शिवनकर 25 निवासी दूधा मांगली का समावेश रहा।
पुलिस ने संदिग्ध आरोपी समीर शेख से गहन पूछताछ की, जिसमे समीर शेख ने बताया कि, उसका मृतक महिला के साथ दो साल से प्रेम सम्बंध चल रहा था, तथा वो उसे पत्नी बनाकर बुटिबोरी में एक किराए के मकान में साथ में रख रहा था। फरवरी 2021 में आरोपी क्र 1 के माँ-बाप ने उसकी दूसरी लड़की से शादी जोड़कर उसका रिश्ता पक्का करा दिया था।
आरोपी के घर मृतक लड़की से प्रेम सम्बंध व उसके विकलांग होने का पता चलने तथा मृतक लड़की को आरोपी के दूसरी लड़की से शादी जुड़ने का पता चलने पर उसने शादी की जिद्द शुरू कर दी। इसी पशोपेश में आरोपी ने मृतक महिला की हत्या कर उसे रास्ते से हटाने का मंसूबा तैयार कर लिया था।
आरोपी ने अपने भंडारा निवासी रिश्तेदार आसिफ पठान व उसका दूधा निवासी मित्र प्रफुल शिवनकर से संपर्क कर उन्हें हत्या के मामले में साथ में लेकर तीनों आरोपी योजना मुताबिक मोटर साइकिल से 22 जून के शाम गोंदिया जिले के चिचगड़ थाना क्षेत्र के ढासगाव रोड पर मंदिर के पास पहुचे और उसी दौरान महिला की धारदार हथियार से निर्मम हत्या कर दी व लाश को जंगल में फेककर फरार होने की कबूली दी।
तीनों आरोपियों को पुलिस ने 19 जुलाई को गिरफ्तार कर उन्हें माननीय न्यायालय में पेश किया, जहाँ से उन्हें 23 जुलाई तक पुलिस रिमांड में लिया गया है। इस मामले की जांच एसडीपीओ देवरी श्री नालकुल कर रहे है।
इस कार्रवाई को पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक बनकर, एसडीपीओ देवरी जालिंदर नालकुल, स्थानीक अपराध शाखा पुलिस निरीक्षक बबन आव्हाड, सायबर सेल पुलिस निरीक्षक वैशाली पाटील, चिचगड़ थाना पुलिस निरीक्षक अतुल तावाड़े, पुउपनि अभयसिंह शिंदे, पाटील, वानखेड़े, सफौ गोयल कापगते, चंद्रकांत करपे, पोहवा राजेन्द्र मिश्रा, पोना दीक्षितकुमार दमाहे, धनंजय शेंडे, प्रभाकर पालान्दूरकर, संजय मारवाड़े, विनोद बरैया, मोहन शेंडे, पोना महेश मेहर, चितरंजन कोडापे, तुलसीदास लुटे, सोमेंद्र तुरकर, रियाज शेख, इंद्रजीत बिसेन, पोशि अजय रहांगडाले, सन्तोष केदार, विजय मानकर, चापोशी पंकज खरवड़े आदि का समावेश रहा।

Related posts