घारपिंडे परिवार को जिलाधिकारी ने दी हिम्मत, जले हुए घर का खुद छत पर चढ़कर किया निरीक्षण..

1,002 Views

गोंदिया जिलाधिकारी श्री खवले के ग्राउंड लेवल के कार्यो से जनता में खुशी..

     गोंदिया, 11 जुलाई: शनिवार यानी 10 जुलाई को दोपहर करीब 3 बजे आंधी और बारिश के चलते, गोरेगांव तालुका के सोनी में देवचंद घारपिंडे का घर बिजली की चपेट में आ गया। गनीमत यह रही कि बिजली गिरने के दौरान घर में कोई नहीं था, इसलिए बड़ा नुकसान होने से टल गया।
       आज, 11 जुलाई को, जिलाधिकारी राजेश खवले ने गोरेगांव तालुका के सोनी में देवचंद घारपिंडे के घर का दौरा कर परिवार को आश्वस्त किया। इस दौरान परिवार को हिम्मत देते हुए वे घर की छत पर चढ़े और नुकसान क्षेत्र का मुआयना भी किया। ग्राम सोनी में जिलाधिकारी के पहुँचने की खबर लगते ही ग्राम के लोगों में भी उत्सुकता दिखी। चूंकि ऐसा पहली बार हो रहा था, जब जिलाधिकारी किसी गाँव में ऐसी घटना पर पहुँचकर निरीक्षण कर रहे थे।
इस दौरान जिलाधिकारी श्री खवले के साथ उपविभागीय अधिकारी अजयकुमार नष्टे, तहसीलदार सचिन गोसावी, नायब तहसीलदार श्री रहांगडाले, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी राजन चौबे, निरीक्षण अधिकारी नीलेश देठे, तलाठी श्रीमती हस्तरेखा बोरकर और आपूर्ति निरीक्षक समीर मिर्जा भी मौजूद रहे।
        इस दौरान जिलाधिकारी राजेश खवले ने सोनी के देवचंद घरपिंडे के परिवार से बातचीत कर पूरी स्थिति से अवगत हुए एवं कर्मचारियों के सहयोग से दैनिक कार्यों के लिए सामान इकठ्ठा कर अस्थाई सहायता के रूप में राशन किट प्रदान की. बिजली गिरने से हुए नुकसान के चलते घारपिंडे परिवार को प्राथमिक विद्यालय में अस्थायी आवास उपलब्ध कराया गया है।
       जिलाधिकारी श्री खवले ने कहा कि वाट्सएप ग्रुप बनाकर गांव के इच्छुक नागरिक घारपिंडे परिवार की आर्थिक समस्या के समाधान में मदद करें और इसमें मेरा नाम भी शामिल हो, साथ ही सामाजिक संगठन एनजीओ भी शामिल हो. उन्होंने कहा कि परिवारों की मदद के लिए उन्हें भी पहल करनी चाहिए। प्रशासन द्वारा जो मदद मिलेगी, वो तो मिलेगी ही, पर जब तक उनकी मदद करना हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है। इतना ही नहीं जिलाधिकारी ने तत्काल निजी सहायता के रूप में अपनी जेब से 5,000 रुपये नकद प्रदान किए हैं और जिले के अन्य नागरिकों से भी मदद की अपील की है।

Related posts