केटीएस में तत्काल ऑक्सीजन प्लांट शुरु कराये सरकार – पूर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल की वैद्यकिय शिक्षण मंत्री अमित देशमुख से मांग

592 Views

६ माह पूर्व केटीएस रुग्णालय में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की मंजुरी के बावजूद नहीं शुरु हुआ ऑक्सीजन प्लांट

प्रतिनिधि। 14 अप्रैल
गोंदिया: प्रतिदिन ६००-७०० नवीन कोरोना बाधित रुग्ण आने से, गोंदिया जिला तथा विशेषकर गोंदिया तालुका कोरोना हॉट स्पॉट बन चुका है। पहले ही पुर्ण बेड (खाट) क्षमता से भरे हुए शासकीय
केटीएस रुग्णालय के साथ-साथ सभी शासकीय कोरनटाईन सेंटर तथा खाजगी कोरोना रुग्णालय भी पुर्ण क्षमता तक भर चुके है। लेकिन रेमडीसीवीर इंजेक्शन तथा ऑक्सीजन की कमी ने स्थिती को और भी गंभीर बना दिया है। जिले में आरोग्य सेवा लाचारी की परिस्थिती में पहुँच गई है, रेमडीसीबीर इंजेक्शन के लिये दवा दुकानों में विवाद होते नजर आ रहे है।

पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल अपने स्तर पर कोरोना बाधित रुग्णों को हर संभव मदत कर रहे है तथा वर्षों तक विधानमंडल का सदस्य रहने के नाते पुराने संबंधों के आधार पर संबंधित मंत्रियों तथा मंत्रालयीन उच्च अधिकारियों को जिले की परिस्थिती से अवगत कराकर आरोग्य व्यवस्था में सुधार लाने का प्रयत्न कर रहे है।

हाल ही में ऑक्सीजन की भारी कमी की परिस्थिती को देखते हुए पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने गत वर्ष शासकीय केटीएस रुग्णालय के लिये ५० लाख रुपए लागत से मंजुर विशेष ऑक्सीजन प्लांट के संदर्भ में जानकारी ली, तो अत्यंत धक्कादायक जानकारी प्राप्त हुई कि, गत वर्ष मंजुर ऑक्सीजन प्लांट का पुरवठा आदेश
दिया गया है, लेकिन अब तक प्लांट की स्थापना पुरी नहीं हुई तथा वर्तमान में उक्त प्लांट का कोई उपयोग नहीं हो रहा है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को समय रहते ऑक्सीजन प्लांट नहीं लगा पाने के लिये फटकार लगाई।

उपरांत पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने राज्य के वैद्यकीय शिक्षण मंत्री अमीत देशमुख को मोबाईल पर फोन कर तथा लिखित पत्र प्रेषित कर इस खेदजनक जानकारी से अवगत कराया।

देशमुख को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि, आज गोंदिवा जिले में ६०० ७०० करोना बाधित रुग्ण प्रतिदिन सामने आ रहे है और अस्पतालों में खाट (बेड) की अत्याधिक कमी है, लेकिन इस परिस्थिती को ऑक्सीजन की कमी ने ओर भी भीषण बना दिया है। गत वर्ष हमने प्रयत्न कर जिलाधिकारी से शासकीय केटीएस रुग्णालय में विशेष ऑक्सीजन प्लांट स्वापित करने हेतु ५० लाख रुपए की निधी मंजुर कराई, लेकिन यह शासकीय यंत्रणा की कमाल की कार्यप्रणाली है की, इतनी भ्रीषण परिस्थिती में भी शासकीय केटीएस रुग्णालय प्रशासन ने आश्चर्यजनक रूप से प्लाट का आपुर्ती आदेश दे दिया, लेकिन आज तक उक्त प्लांट स्थापित नहीं हुआ। अगर उक्त आँक्सीजन
प्लांट समय रहते रुग्णालय प्रशासन ने लगवा लिया होता तो आज कम से कम ५० मासुमों का जीवन बचाया जा सकता था।

पत्र में पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल ने विश्वव्यापी महामारी की स्पष्ट जानकारी एवम् निधी की मंजुरी के बावजुद ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना में की गईं देरी की जांच कर दोषीयों पर कड़ी कार्यवाही तथा सर्वप्रथम शासकीय केटीएस रुग्णालय में मंजुर ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना तत्काल पुर्ण कराने की मांग वैद्यकिय शिक्षण मंत्री अमित देशमुख से की। देशमुख ने संबंधितों को तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये है एवम् पुर्व विधायक गोपालदास अग्रवाल को उक्त ऑक्सीज़न प्लांट आगामी ७ दिनों में शुरू करा देने का आश्वासन दिया है, यह विशेष उल्लेखनीय है।

Related posts