कटंगी प्रकल्पग्रस्तों को नहीं मिल रहा मुआवजा – पाथरी के किसान परेशान..

372 Views

 

कटंगी प्रकल्पग्रस्तों को नहीं मिल रहा मुआवजा – पाथरी के किसान परेशान..

प्रतिनिधि।

गोरेगाव/गोंदिया। गोरेगांव तहसील अंतर्गत कटंगी प्रकल्प में सैकडों हेक्टेयर जमीन भूसंपादित की गई। जिससे सैकडों किसान भूमिहिन हो गए। सरकार ने प्रकल्पग्रस्तों को जमीन के बदले मुआवजे की राशि दी। लेकिन अभी भी अनेक किसानों को मुआवजा नहीं मिला है। इस मुआवजे के लिए प्रकल्पग्रस्तों को दर-दर की ठोकरे खाना पड़ रहा है। पाथरी के प्रकल्पग्रस्त किसान मुआवजे के लिए परेशान हो गए है।

इस संदर्भ में जानकारी दी गई है कि कटंगी जलाशय में पाथरी, पिंडकेपार, कटंगी, धुंदाटोला आदि ग्रामों की सैकडों एकड़ जमीन भूसंपादित की गई। अनेक परिवार भूमिहिन हो गए। शासन ने जमीन का मुआवजा दिया है, लेकिन मुआवजा अल्प होने से बढ़ोत्तरी मुआवजा मिलने के लिए विभिन्न स्तर से मांग की गई थी, जिसे शासन ने मंजूरी दे दी। पाथरी निवासी कुसुम भुरकुडे, बाबुलाल नाईक, धनेंद्र येरके, शिशुला राऊत, उमाकांत चन्ने, भोजराज कटरे आदि किसानों को उपविभागीय अधिकारी तिरोड़ा की ओर से उपरोक्त प्रकल्पग्रस्त किसानों को ६ जून २०२० को मुआवजा प्राप्त करने का नाोटिस दिया गया, लेकिन इस नोटिस को ८ माह बीत गए, किंतु अब तक किसी भी प्रकल्पग्रस्तों को मुआवजा नहीं दिया गया है। विभिन्न कारण बताकर प्रकल्पग्रस्त किसानों को उपविभागीय कार्यालय से वापस लौटाया जा रहा है। प्रकल्पग्रस्तों ने मांग की है कि तत्काल मुआवजे की राशि देकर समस्या को हल करें।

अधिकारियों पर कार्रवाई करें…

मुझे और अन्य किसानों को मुआवजा प्राप्त करने के लिए जून २०२० में नोटिस दिया गया। कई बार कार्यालय में दस्तावेज लेकर गए लेकिन विभिन्न कारण बताकर हमे लौटाया जा रहा है। सरकार ने हमे भूमिहिन किया है, उसका मुआवजा भी देने शासन के अधिकारी अनदेखी कर रहे है। ऐसे अधिकारियों की जांच कर उनके खिलाफ कार्रवाई करें।
– कुसुम भुरकुडे, प्रकल्पग्रस्त किसान, पाथरी

Related posts