गोंदिया: फ़ारेस्ट टीम के हत्थे चढ़े बाघ के हत्यारें, करंट लगाकर टुकड़े-टुकड़े कर फेंका था

1,207 Views

तीनो आरोपियों को न्यायालय ने भेजा 30 नवंबर तक वन रिमांड में, कुछ अवशेष व अन्य फरार आरोपियों की तलाश जारी..

हकीक़त रिपोर्टर।
गोंदिया। नवेगांव-नागझिरा टाइगर रिजर्व फारेस्ट से सटे गोंदिया वनविभाग के वनपरिक्षेत्र मुंडीपार अंतगर्त चुटिया बीट क्षेत्र के लोधीटोला खेत परिसर में एक तीन साल के बाघ के मृत अवस्था में पाए जाने  तथा उसके टुकड़े टुकड़े कर फेंके जाने का मामला 15 नवम्बर को प्रकाश में आया था। इस मामले में जांच में जुटी वन विभाग की टीम ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिससे पूछताछ में पूरी जानकारी सामने आई है।
    पकड़े गए आरोपी रोशनलाल खेमलाल बघेले, मुकेश रोशनलाल बघेले निवासी लोधिटोला, बालचन्द सोनू राणे निवासी चुटिया ने वन्यजीव बाघ की करंट लगाकर हत्या करने व सबूत नष्ट करने के इरादे से उसके अवशेष के टुकड़े कर फेंकने व हथियार व अवशेष छुपाने का गुनाह कबूल किया। सभी आरोपियों को प्रथम श्रेणी न्यायालय गोंदिया में 26 नवंबर को प्रस्तुत किया गया, जहा से उन्हें 30 नवंबर तक वन विभाग के कस्टडी में लिया गया है।
   अभी भी बाघ के नाखून, मिशा, जबड़ा व काता का पता लगाया जा रहा है वही अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। आरोपियों ने बाघ को दिवाली के दौरान 6 व 7 नवंबर को निर्मलाबाई सादुराम ढेकवार के खेत में करंट लगाकर मारा, व सबूत नष्ट करने उसके टुकड़े कर यहां वहां फेंके। आरोपियों की निशानदेही पर वन टीम ने बाघ के हत्या स्थल पर जाकर वहां से उसके बाल, खून से सनी लकड़ी व कांटे बरामद किए। करंट के लिए इस्तेमाल किये गए तार व वायर भी बरामद किया।
   इस दो दिन की कार्रवाई में पुलिस पाटील इंदूबाई रहांगडाले, तमुस अध्यक्ष गजानन कावड़े, मानद वन्यजीव रक्षक  मुकुंद धुर्वे उपस्थित रहे। आरोपियों ने इसके पूर्व भी वन्यजीव चीतल, जंगली सुवर का शिकार करने की कबूली दी।
  ये कार्रवाई उपवन सरंक्षक गोंदिया कुलराजसिंग के मार्गदर्शन में सहायक वन संरक्षक आर आर सदगीर, वनक्षेत्राधिकारी एस के आकरे, वनक्षेत्रपाल सरंक्षक एस एस महस्कर, एस आर श्रीवास्तव, बीडी दखने, दुर्रानी, अग्निहोत्री, फटिंग, भांडारकर, वैध सहित वनरक्षक व वनविभाग के सभी अधिकारी व कर्मियों की टीम ने सहयोग किया। इसके अलावा वनविभाग के स्वान स्नीफर (पीटर), रामु डॉग की सहायता से आसपास के क्षेत्र में जांच हेतु मदद में सहायता प्राप्त हुई।

Related posts