गोंदिया: राष्ट्रवादी की धड़ाधड़ बैठकें, पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन निभा रहे पक्ष की मजबूती के लिए सक्रीय भुमिका

261 Views

 

आगामी जिला परिषद, पंचायत समिति चुनाव को लेकर प्रत्येक सीट पर पक्ष का लक्ष्य

हकीक़त न्यूज।
गोंदिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं वर्तमान सांसद प्रफुल पटेल के राजनीतिक गढ़ गोंदिया-भंडारा संसदीय क्षेत्र के दोनों जिलों में आगामी दिनों में होने वाले मिनी मंत्रालय यानी जिला परिषद व पंचायत समिति के चुनाव को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी एक्शन मोड में आ गई है। दोनों जिलों में सांसद प्रफुल पटेल के दौरे निरन्तर जारी है, वही धान खरीदी केंद्र शुरू कराने व बोनस 700 रुपये बढ़ाएं जाने के प्रयास करने पर सांसद पटेल का किसानवर्ग द्वारा अभिनंदन किया जा रहा है।

पिछले दिनों सांसद पटेल के आगमन व विभिन्न जगहों के दौरे पर ग्रामीणों में अजब का उत्साह देखा जा रहा था। सैकड़ो लोग प्रफुल पटेल के कार्यो से प्रभावित होकर तथा उनपर विश्वास रख राष्ट्रवादी कांग्रेस से जुड़े व जुड़ रहे है।

इस क्षेत्र में सांसद प्रफुल पटेल के सक्रीय राजनीतिक सहायक के रूप में पक्ष की बागडोर संभाले हुए पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन ने कार्यकर्ताओं को एक्शन मोड में ला दिया है। ग्रामीणों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए गोंदिया में कार्यालय प्रारंभ कर दिया गया है, वही स्थानीय ग्रामस्तर की नागरिको की, किसानों की मूलभूत समस्याओं को सुनकर उनके समाधान के लिए कटिबद्ध होकर कार्य किये जा रहे।

पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन द्वारा धड़ाधड़ गाँव-गाँव में बैठकें आयोजित की जा रही है। बैठकों में पक्ष की मजबूती, कार्यकर्ताओं में एकजुटता पर ध्यानकेन्द्रित किया जा रहा है। वही नए सदस्यों को भी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा रही है।

अब तक पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन के कुशल नेतृत्व व अध्यक्षता में काटी, डांगोरली, टेड़वा, माकड़ी, लोहारा, रावनवाड़ी, अर्जुनी, कुड़वा, कटंगी, फुलचुर आदि ग्रामों में बैठकें हो चुकी है। वही निरन्तर बैठकें जारी है। इसी तरह तिरोड़ा, गोरेगांव, आमगांव, सालेकसा, देवरी, सड़क अर्जुनी, मोरगांव अर्जुनी में भी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की बैठकें प्रारंभ है, जहां पक्ष को सक्रियता से आगामी चुनाव हेतु तैयार किया जा रहा है।

बता दे कि अभी तक महाविकास आघाडी सरकार में राष्ट्रवादी कांग्रेस, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस एवं शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं के बीच आगामी चुनाव को लेकर कोई तालमेल नही जमा है। इस चुनाव को लेकर महागठबंधन कि क्या भूमिका रह सकती है, चुनाव मिलकर लड़ेंगे या नही फिलहाल कोई जानकारी नही है। इस हेतु सभी पार्टियां अपने स्तर पर सभी सीटों पर पक्ष को मजबूत करने पर लगी हुई है।

Related posts