40 दिन में रुपया डबल: बोरा बैंड ट्रेडिंग एप के झांसे में आकर गवाएं लाखों रुपये..

1,017 Views

भंडारा में 2 एजेंट पर मामला दर्ज, एसपी मतानी ने दी फेंक ऑनलाइन ट्रेडिंग एप से बचने की सलाह..

ब्यूरों न्यूज।
भंडारा। 40 दिन में पैसे दोगुने करने की लालच देकर सैकड़ों लोगों को बोरा बैंड ट्रेडिंग एप में पैसे का झांसा देकर धोखाधड़ी करने वाले 2 लोगों के खिलाफ भंडारा पुलिस ने मामला दर्ज किया है.
इस मामले में पुलिस ने साई मंदिर, तकिया वार्ड निवासी किशोर कुंभारे को अरेस्ट किया है. जबकि अंबेडकर वार्ड निवासी विक्की झाडे फरार है.
बोरा ट्रेडिंग एप में निवेश किए हुए पैसे निकाल पाने में असमर्थ होने के बाद विद्यानगर निवासी पवन दादाराम मस्के की शिकायत पर एसपी लोहित मतानी के आदेश पर यह कारवाई की गई.
मंगलवार को जिला पुलिस मुख्यालय में आयोजित पत्र परिषद में एसपी लोहित मतानी ने बोरा बैंड ट्रेडिंग एप घोटाले के बारे में जानकारी देते हुए लोगों से खुलकर सामने आने आकर शिकायत दर्ज करने की अपील की.
उन्होंने बताया कि भंडारा शहर के सैकड़ों लोगों ने निवेश करने कुछ चुनिंदा लोगों के झांसे में आकर बोरा बैंड नामक ऑनलाइन एप में लाखों रुपये निवेश किए. बोरा बैंड एप ने पैसे वापस करना बंद करने के बाद शिकायत कर्ताओं ने एजेंट से निवेश किए हुए पैसे वापस मांगे, जिसमें एजेंट ने असमर्थता जताई.
इसके बाद शिकायतकर्ता ने पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई. पुलिस ने एजेंटों को ठगी और एमआईपीडी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है.
एसपी मतानी ने बताया कि दिल्ली के आसपास कुछ गिरोह फेंक ऑनलाइन ट्रडिंग एप बना कर देश भर के शहरों से एजेंट नियुक्त करते हैं. यह एजेंट शुरू से एप में पैसे लगा कर खुब कमाते हैं और लोगों को झांसे में लेकर एप में निवेश करवाते हैं. जैसे- जैसे निवेश करने वालों की संख्या बढ़ती है, पहले जॉइन हुए सभी एजेंटों की कमाई बढ़ती जाती है जिससे तेजी से ऐसे
एप लोकप्रिय होते हैं.
और भी हैं फर्जी एप..
बोरा बैंड के अलावा बेट-सी., वी एक्सचेंज,
वैनवैक्स यूएई जैसे प्लेटफॉर्म भी है
जिन्होंने हाल ही में अपना बोरिया बिस्तर
लपेट कर लोगों को लाखों करोडों का
चूना लगाया है. एजेन्ट्स और निवेशकों
की जानकारी हासिल करने पुलिस
एक्सचेंज से भी जानकारी जुटाएगी.
इस समय एडिशनल एसपी ईश्वर कातकडे,
क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर नितिन चींचोलकर,
एपीआई विनोद गिरी मौजूद थे.

Related posts