गोंदिया: ग्राम पंचायत का अनूठा निर्णय, मोबाइल पर गेम खेला तो होगा जब्त..

657 Views

गोंदिया: युवा पीढ़ी एंड्राइड मोबाइल से इतनी करीब हो गई है कि वो एक मिनट के लिए भी उससे दूर नहीं हो सकती.बच्चे पढ़ाई के बजाय मोबाइल फोन पर फ्री फायर-पबजी खेल के माध्यम से अपना भविष्य बर्बाद कर रहे हैं. युवा पीढ़ी द्वारा मोबाइल का उपयोग और उसका दुरूपयोग में अंतर महसूस नहीं किए जाने की वजह से लोग परेशान भी हैं. युवा पीढ़ी को मोबाइल के नशे से दूर रखने के उद्देश्य से गोंदिया जिले की सालेकसा तहसील की एक ग्राम पंचायत ने अब अनूठा निर्णय लिया है. ग्राम पंचायत ने युवाओं के मोबाइल उपयोग पर नकेल कसने बकायदा एक समिति का गठन कर दिया है.

सालेकसा तहसील की नानवा ग्राम पंचायत में ध्वजारोहण कार्यक्रम के बाद आमसभा का आयोजन किया गया. आमसभा में सरपंच गौरीशंकर बिसेन ने यह अनोखा निर्णय लेते हुए सभी को चौंका दिया. सरपंच ने बताया कि ग्राम पंचायत में स्कूल जाने वाले बच्चों को मोबाइल पर गेम खेलते देखा गया तो उनका मोबाइल ग्राम पंचायत द्वारा जब्त कर लिया जाएगा. इसके लिए एक समिति बनाई जाएगी.

सरपंच बिसेन ने बताया कि स्कूली बच्चों में मोबाइल पर फ्री फायर एवं पबजी जैसे खेल खलना आदत एवं नशा बन चुका है. छात्र पढ़ाई करने के बजाय अपना पूरा समय मोबाइल गेम खेलने में खराब कर रहे हैं. मोबाइल का शिकार हो रहे बच्चों पर लगाम कसने के लिए युवाओं की समिति बनाई जाएगी. यह समिति गांव में घूमेगी.

गांव में यदि कोई स्कूली बच्चा मोबाइल पर फ्री फायर-पबजी या अन्य कोई गेम खेलता पाया गया तो उसका मोबाइल जब्त कर लिया जाएगा. गोंदिया जिले में इस प्रकार का निर्णय लेने के मामले नानवा पहली तहसील है. ग्राम पंचायत के इस निर्णय से गलत दिशा की ओर भटक रहे युवाओं पर लगाम लगने की संभावना बढ़ गई है. नागरिकों ने ग्राम पंचायत की इस पहल की सराहना की है.

Related posts