गोंदिया में छात्रों के “घटिया पोषण आहार” का मामला पहुँचा मुंबई, विधायक डॉ. फुके ने विधानपरिषद में की ठेकेदार पर शख्त करवाई की मांग..

456 Views
प्रतिनिधि। 16 मार्च
गोंदिया/मुंबई।  छात्रों को मिड- डे-मिल के नाम पर वितरित किया जा रहा पोषण आहार पशुओं के चारे से भी बदतर होने एवं ऐसे पोषण आहार से शालेय विद्यार्थियों के स्वास्थ्य से धोखाधड़ी करने पर ये मामला अब मुंबई में सरकार के समक्ष पहुँच गया है।
गोंदिया जिले के पूर्व पालकमंत्री एवं वर्तमान विधान परिषद सदस्य डॉ. परिणय फुके ने आज इस गंभीर मामले पर “पॉइंट ऑफ इन्फॉर्मेशन” के तहत विधानपरिषद सभागृह में सवाल कर सरकार का ध्यानकेन्द्रित किया।
पूर्व पालकमंत्री व वर्तमान विधायक डॉ. परिणय फुके ने कहा, गोंदिया जिले के गोंदिया तहसील अंतर्गत चंगेरा ग्राम में 15 मार्च को जिला परिषद की जिला परिषद शाला में शालेय विद्यार्थियों को पोषण आहार। वितरित किया गया था। ये पोषण आहार इतना मिलावटी, घटिया था कि इसे पशुओं को खिलाना भी मुनासिब नहीं। ऐसे घटिया दर्जे के आहार का वितरण शालेय विद्यार्थियों को कर उनके स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि, पोषण आहार के रूप में मिले चना और मूंगदाल में कूड़ा, कचरा, भूसा और गुटखा के पाऊच मिले है। इस पोषण आहार की स्थिति पशुओ के चारे से घटिया थी। विधायक डॉ. फुके ने सभागृह में दोषी सबंधित ठेकेदार पर शख्त कार्रवाई की विनंती कर आगे से कोई भी ठेका न देने की गुजारिश की एवं इस पोषण आहार मामले पर सम्पूर्ण जांच कराने की मांग की।

Related posts