बिरसी हवाई अड्डे के निर्माण पर पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल पटेल ने झेला था जनता का भारी गुस्सा, आज उनके संकल्पों से ही “उड़ान” संभव..

2,299 Views
प्रतिनिधि। 12 मार्च
गोंदिया। किसी ने कभी सोचा भी नहीं था कि, ब्रिटिश शासन काल के दौरान गोंदिया तहसील के बिरसी ग्राम में बनाई गई हवाई पट्टी से सालों बाद कभी कोई उड़ान भी भरी जायेगी। और गोंदिया के नागरिक बिरसी से विमान में बैठकर हवाई सफर करेंगे। पर ये आज संभव हो पाया है।
इसका श्रेय अगर सबसे पूर्व किसी को जाता है तो वो पूर्व केंद्रीय मंत्री व तत्कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल पटेल को जाता है। प्रफुल पटेल ही थे जिन्होंने बिरसी हवाई पट्टी पर अपने मंत्रालय का लाभ उठाकर बिरसी पर अंतराष्ट्रीय दर्जे के रूप में आधुनिक हवाई अड्डा निर्माण कराया, जहां से दिन और रात को विमान उड़ सकते है, उतर सकते है। इतना ही नही तत्कालीन विमानन मंत्री प्रफुल पटेल ने एयरपोर्ट निर्माण के साथ ही पायलट ट्रेनिंग सेंटर शुरू कराया। जहां अनेको प्रसिक्षु छात्र विमान को आसमान में घुमाते नजर आते है।
तत्कालीन केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल पटेल ने बिरसी पर हवाई अड्डे के निर्माण पर जनता के भारी गुस्से का सामना किया। इस एयरपोर्ट का विरोध हुआ, चुनाव प्रचार में प्रफुल पटेल ने विरोधियो के प्रहार भी सहन किये, पर तटस्थ होकर इस संकल्प को साकार किया।
कल 13 मार्च को उसी आधुनिक बिरसी हवाई अड्डे से यात्री विमान सेवा प्रारंभ होने जा रही है। गोंदिया के इतिहास में पहला अवसर है जब स्थानीय नागरिक बिरसी एयरपोर्ट से विमान में बैठकर इंदौर और हैदराबाद का हवाई सफर करेंगा।
कल तक जिस एअरपोर्ट के निर्माण को लेकर भारी विरोध का सामना प्रफुल पटेल ने किया, आज जब उसी एयरपोर्ट से उड़ान शुरू हो रही हैं तो गोंदिया-भंडारा जिले की जनता वर्तमान सांसद प्रफुल्ल पटेल पर फक्र महसूस कर उनका आभार व्यक्त कर रही है। पटेल ने अगर एयरपोर्ट न बनवाया होता तो, यहां से उड़ान संभव नहीं थीं..

Related posts