हाथरस के सच पर राजनीति पहरा कब तक..??, हैवानियत के दरिंदो को सजा दिलाने मुंबई पुलिस को सौंपे जांच- शिवसेना जिलाप्रमुख शिवहरे

446 Views

 

प्रतिनिधि।
गोंदिया। उत्तर प्रदेश में अब रामराज नहीं, योगी सरकार का रावनराज चल रहा है। एक दलित युवती के साथ हैवानियत की सारी हदें पार कर जिस तरह से सामूहिक दुष्कर्म कर उस युवती के साथ जघन्य और निर्ममपूर्ण बर्बरता की गई, उसने पूरे देश को झिंझोड़ दिया है। इस अपराध से लोग सुन्न थे कि, उस युवती के शव को आधीरात को चुपचाप से जला दिया गया। ये रामराज नहीं, ऐसा लगता है कि यूपी सरकार खुद मामले को दबाने के लिए अपने पावर का प्रयोग कर रही है।

इस मामले पर गोंदिया शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे ने कहा, हाथरस की घटना पर राजनीतिक पहरा बैठा दिया गया है। सच को सामने आने से योगी सरकार बल का प्रयोग कर रही है। बेटी को इंसाफ देने की बजाए मामले को दबाने उसके शव को आधी रात को जला देना, ये सरकार की नाकामियों को दर्शाता है।

शिवहरे ने कहा बेटी किसी की भी हो, ये मातृत्व प्रदान देश है। हर बेटी को इंसाफ मिलना चाहिए। युवतियों पर हो रहे इस जघन्य अपराधों पर खामोश लोगो को जनता जरूर आईना दिखाएगी।

शिवसेना जिलाप्रमुख श्री शिवहरे ने कहा, अब हाथरस का मामला महाराष्ट्र पुलिस को सौंप दिया जाना चाहिए। उन्होंने जिले के पालकमंत्री और राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख से भी मांग की है। उन्होंने कहा, जब सुशांत सिंग मामले में बिहार पुलिस अपराध दर्ज कर मुम्बई आकर जांच कर सकती है तो महाराष्ट्र पुलिस यूपी जाकर क्यों नही।

Related posts