गोंदिया: भगवान के आस्था के नाम पर मंगलसूत्र उड़ाने वाले “इंटरस्टेट गैंग” के पांच आरोपी गिरफ्तार, अर्जुनी मोरगाँव पुलिस की सफलता…

381 Views

 

बालाघाट, गोंदिया, चंद्रपुर, वणी में चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर पहुँचे थे पांढुर्णा…

प्रतिनिधि। 16 सितम्बर
गोंदिया। विगत 03 सितम्बर को जिले के अर्जुनी मोरगाँव थाना क्षेत्र के अर्जुनी मोरगाँव स्थित कापगते कॉम्प्लेक्स में एक महिला दुकानदार को भगवान की श्रद्धा व आस्था दिखाकर आरोपी द्वारा उसके गले से 50 हजार रुपये कीमत का मंगलसुत्र चुरा लिया गया था। इस मामले पर पुलिस अधीक्षक विश्व पानसरे से मिले निर्देश के बाद अर्जुनी मोरगाँव पुलिस दिन रात आरोपियो की तलाश में जुटी हुई थी। आखिरकार पुलिस को कड़ी मशक्कत के बाद सफलता मिली और पुलिस ने इस चोरी को अंजाम देने वाले आरोपी सहित पांच लोगों की इंटरस्टेट गैंग को धर दबोचने में कामयाबी हासिल की।

अर्जुनी मोरगाँव के पुलिस निरीक्षक सतीश जाधव व सहायक पुलिस निरीक्षक श्री सोमनाथ कदम से मिली जानकारी अनुसार पुलिस ने पांचों आरोपियों को 14 सितम्बर को हिरासत में लेकर पांढुर्णा से गोंदिया लाया, एवं न्यायालय में पेश कर 1 दिन की कस्टडी में रखा।

पकड़े गए आरोपीयों में वसीम सिराज अब्बास उम्र 37 वर्ष निवासी आंबिवली कल्याण ठाणे, माशाअल्लाह नव्वर अली- 32 वर्ष निवासी टिटीनगर जि. शहडोल म.प्र., मुख्तारअली पिल्लू अली- 38, जितेंद्र गोकुलप्रसाद रॉय- 30, गंगाराम नगराम नरबरेय्या- 42, तीनों निवासी भोपाल मध्यप्रदेश का समावेश है। इन आरोपियों को आज 16 सितंबर को मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जेल भेज दिया गया है।

चोरी की घटनाओं को अंजाम देकर बढ़ते जा रहे थे आगे..

पुलिस ने बताया गया कि इन आरोपियों ने बालाघाट जिले में चोरी की घटना को अंजाम देकर गोंदिया जिले के अर्जुनी मोरगाँव पहुँचे थे। यहां आरोपियों ने 3 सितंबर को एक दुकानदार के गले से भगवान की आस्था दिखाकर व धोखाधड़ी कर 50 हजार किंमत का मंगलसूत्र चोरी कर फरार हो गए थे।

अर्जुनी मोरगाँव पुलिस ने इस घटना के बाद आसपास के सभी थानों को अलर्ट सूचना जारी कर सीसीटीवी फुटेज में उनके दिखाई देने की तस्वीरें जारी की थी। गोंदिया के बाद इन गैंग के चालबाजों ने चंद्रपुर, फिर यवतमाल जिले के वणी व वहां से मध्यप्रदेश के पांढुरना में अपना बसेरा बनाया था। गोंदिया पुलिस के अलर्ट जारी होने पर 6 सितंबर को पांढुरना पुलिस ने उनकी पकड़ की थी। जिसके बाद उन्हें 14 सितंबर को गोंदिया लाया गया।

आरोपियों से चोरी का सभी माल बरामद…

पुलिस ने बताया कि गोंदिया सहित विभिन्न क्षेत्रों में हुई चोरी, धोखाधड़ी की वारदात में चोरी हुआ माल बरामद कर लिया गया है। उन्हें मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जेल भेज दिया गया।

ऐसे दिया था धोखाधड़ी की घटना को अंजाम..

पुलिस जानकारी के अनुसार 30 वर्षीय फिर्यादि 3 सितंबर 21 को दोपहर 1.30 बजे अपनी कापगते कॉम्प्लेक्स स्थित जनरल स्टोर्स दुकान में बैठी हुई थी। तभी एक अज्ञात व्यक्ति दुकान पर आया। फिर्यादि को भगवान की श्रद्धा में डुबाकर दुकान के काउंटर पर रखी एक सफेद रंग की पॉलीथिन को उसके गले में लटकी मंगलसूत्र से स्पर्श करने कहा। साथ ही दोनों हाथ जोड़ने व आंखे बंद कर पैर पड़ने कहा। आरोपी के बताए अनुसार भगवान की श्रद्धा में डूबकर फिर्यादि ने वैसा ही किया। इसके बाद आरोपी ने फिर्यादि को वो सफेद पन्नी किसी जरूरतमंद को आधे घँटे बाद दे देने की बात कर रफ़ूचक्कर हो गया। उसके जाने के 10 मिनट बाद फिर्यादि को आभास हुआ कि उसके गले मे लटकी 12 ग्राम की कंठमनी वाला 50 हजार रुपये कीमन्त का मंगलसूत्र नही है। उसने दुकान की सभी जगह छान डाला,पर वो नही मिला। उस व्यक्ति के बारे में अन्य दुकानदारों से पूछताछ की पर पता नही चला। उसे संज्ञान में आया कि उस व्यक्ति ने उसके साथ धोखाधड़ी कर मंगलसुत्र उड़ाया है।

420 के तहत दर्ज किया गया था मामला..

इस मामले पर फिर्यादि की शिकायत पर अर्जुनी मोरगाँव थाना में धारा 420 भादवि के तहत मामला दर्ज कर इस मामले की जांच पुलिस निरीक्षक सतीश जाधव के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक कदम द्वारा की जा रही थी।

Related posts