१५ अगस्त आज़ादी को प्रोत्साहन पर निबंध, काव्यवाचन, वक्तृत्व, गोंडी नृत्य प्रतियोगिता और उच्च विद्या विभुषीत मान्यवरो का मार्गदर्शन..

177 Views

 

▪️सुप्रसिद्ध लेखिका कवियित्री उषाकिरण आत्राम के मार्गदर्शन में कार्यक्रम का आयोजन..

▪️आम्ही विश्व लेखिका, संविधान मैत्री संघ एव्ं महिला सशक्तीकरण संघ द्वारा संयुक्त रूप से आयोजन..

प्रतिनिधि

गोंदिया: विश्व मुलनिवासी दिवस, विश्व युवा दिवस एवं स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर “आम्ही विश्व लेखिका”, “संविधान मैत्री संघ” और महिला सशक्तिकरण संघ के संयुक्त तत्वावधान में विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से महिलाओं एवं छात्रों के लिए प्रोत्साहन पर साहित्य लेखन, सांस्कृतीक जागरूकता गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में उच्चविद्याविभुषीत गणमान्य व्यक्तियों का मार्गदर्शन कार्यक्रम 15 अगस्त को सुबह 10:00 बजे से गोंदिया में स्थानीय एसएसए गर्ल्स स्कूल, गर्ल्स कॉलेज के सामने होगा। उषाकिरण आत्राम (विश्वविद्यालय के जाने माने लेखिका, रचयीता गोंडवाना दर्शन, आमंत्रित – आम्ही विश्व लेखक) मार्गदर्शक के रूप में उपस्थित रहेंगे। इस जागरुकता एवं लेखन प्रोत्साहन कार्यक्रम में प्रातः 10 बजे से निबंध प्रतियोगिता (विषय- मुल आदिवासी संस्कृति दर्शन सीमा 300 शब्द), काव्य वाचन, वक्तृत्व कला प्रदर्शन, आदिवासी संस्कृति का अभिन्न अंग गोंडी नृत्य” का प्रदर्शन किया जाएगा। इस स्व्यंस्फूर्त आयोजन में प्रतियोगियों के लिए प्रवेश निःशुल्क है। प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय के साथ भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जायेगा तथा उच्च विद्या विभुषीत गणमान्य द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किये जायेंगे।
महिलाओं के साहित्यिक लेखन कौशल को दुनिया के सामने लाने के लिए संस्था द्वारा विभिन्न नवनवीन उपक्रम लिये जा रहे है। हमारी संस्कृति के प्रति जागरूक नही होने से हम अपना वजूद खो रहे हैं। इसमें कोई शक नहीं कि अगर हम ऐसे ही हाथ में हाथ डालकर बैठें रहेँगे तो इतिहास जमा हो जायेंगे। मोबाइल ऑनलाइन युग में साहित्य लेखन को बढ़ावा देने के लिए इस वैचारिक कार्यक्रम के माध्यम से जागरूकता गतिविधियों को लागू किया जा रहा है। अपने विचारों को वास्तविक गति प्रदान करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपनी मूल संस्कृति को जानने की आवश्यकता है।

कार्यक्रम का आयोजन इस उद्देश्य से किया गया है कि महिलायेँ एव्ं छात्र विभिन्न प्रतियोगिताओं, सांस्कृतीक उपक्रमो के माध्यम से अध्ययन करेंगे. आम्ही विश्व लेखिका की ओर से अध्यक्ष प्रा. डॉ. दिशा गेडाम, उपाध्यक्ष सुवर्णा हुबेकर, संविधान मैत्री संघ एव्ं महिला सशक्तीकरण संघ की ओर से पौर्णिमा नागदेवे, मुख्याध्यापिका उमा गजभिये इन्होने महिलाओ-छात्राओं से इस प्रतियोगिता मार्गदर्शन कार्यक्रम में भाग लेने की अपील की है.

Related posts