गोंदिया: BGW ब्लड बैंक में स्वैच्छिक रक्तदान जन जागरण दिवस 1 अक्टूबर को…

670 Views

प्रतिनिधि।
गोंदिया। महाराष्ट्र राज्य रक्त संक्रमण परिषद की ओर से प्रतिवर्ष संम्पूर्ण राज्य में स्वास्थ्य विभाग की ओर से 1 अक्टूबर को स्वैच्छिक रक्तदान दिवस के रुप में मनाया जाता है। जिले में इस दिन नागरिकों को स्वैच्छिक रक्तदान के लिए प्रेरित करने के लिए विविध स्पर्धा कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

इस विषय में जानकारी देते हुए स्थानीय केटीएस जिला रुग्णालय की वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुवर्णा हुबेकर ने कहा कि अभी भी रक्तदान के प्रति आम जनता में कई भ्रांतियां हैं। रक्त मानव जीवन के शरीर का महत्वपूर्ण वो संचार है, जिससे हम जीवित रहते है। रक्त कोई केमिकल फैक्ट्री में तैयार नहीं होता, केवल मानव का रक्त ही मानव को लगाया जा सकता है। इमरजेंसी में रक्त, सर्जरी, डिलीवरी सीजर, शस्त्रक्रिया आदि के दौरान सिर्फ रक्त ही जान बचा सकता है।

गोंदिया जिले में सिकलसेल, थैलेसीमिया, मलेरिया आदि के रक्त संबंधी विकार वाले मरीजों का प्रमाण पूरे महाराष्ट्र में ज्यादा है। इसलिए भी यहां हमेशा रक्तदान में रक्त की समस्या निर्माण रहती है। गोंदिया जिले में 14 लाख से अधिक की आबादी के लिए एकमात्र सरकारी जिला स्तरीय रक्त बैंक, बाई गंगाबाई महिला जिला अस्पताल में है।

डॉ. सुवर्णा हुबेकर ने बताया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को रक्त मुफ्त उपलब्ध हो, इसके लिए 1 अक्टूबर से स्वैच्छिक जन जागरण अभियान चलाया जा रहा है। कोई भी स्वस्थ्य व्यक्ति चाहे पुरुष हो या महिला हर 3 महीने में एक बार अपनी स्वेच्छा से रक्तदान करके किसी भी व्यक्ति की जान बचा सकता है। इसके लिए एक पहल के तहत डॉक्टर के नेतृत्व में 3 साल से बर्थडे डोनर क्लब अभियान भी चलाया जा रहा है। इस अभियान में जिस व्यक्ति का जन्मदिन हो वह अपने मित्र मंडली के साथ रक्त बैंक में आकर स्वेच्छा से रक्तदान करते हैं। इस दौरान रक्त बैंक की तरफ से उनको जन्मदिवस का शुभेच्छा पत्र एवं सर्टिफिकेट और डोनर कार्ड दिया जाता है। डॉ. सुवर्णा हुबेकर ने इस अभियान में शामिल होने के लिए नागरिको से अपील की है कि वे 3 माह में एक बार रक्तदान अवश्य करें, ताकि अन्य लोगों को जीवनदान देने में हमारा भी अमूल्य योगदान हो।

Related posts