गोंदिया एसीबी की कार्रवाई: गोरेगांव APMC का लेखापाल रिश्वत लेते गिरफ्तार, धान व्यापारी से मिलिंग व प्रोसेसिंग के लाइसेंस हेतु मांगी थी रिश्वत

975 Views

 

प्रतिनिधि ।

गोंदिया: गोरेगांव कृषि उत्पन्न बाजार समिति के लेखापाल दीपक टीकाराम गायधने (39) को 15 हजार रूपए की रिश्वत लेने का प्रयास करते हुए भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग (एसीबी) गोदिया की टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया।

शिकायतकर्ता व्यापारी ने गोरेगांव की राइस मिल में धान मिलिंग एवं प्रोसेसिंग के लिए व्यापारी राइस मिल व्यापारी करारनामा किया. धान मिलिंग एवं प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक लाइसेंस बनवाने के लिए शिकायतकर्ता जनवरी महीने में कृषि उत्पन्न बाजार समिति गया. लिपिक दीपक गायधने से मिलकर आवश्यक कागजात की जानकारी ली. इस दौरान गायधने ने शिकायतकर्ता से संपर्क कर आवश्यक कागज जमा कराने के लिए कहा. पश्चात 7 जनवरी को शिकायतकर्ता ने गायधने से संपर्क किया. इस दौरान गायधने ने शिकायतकर्ता से 30 हजार रूपए का धनादेश एवं 10 हजार रूपए की मांग की. गायधने ने बताया कि उसे 30 हजार रू. का धनादेश कृषि उत्पन्न बाजार समिति के नाम देना होगा. 10 हजार रूपए नगद की रसीद नहीं दी जाएगी. पश्चात धान मिलिंग लाइसेंस के लिए शिकायतकर्ता से 10 हजार रूपए रिश्वत की मांग की.

11 जनवरी को भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग में इसकी शिकायत की गई. इसी दिन शिकायत की जांच-पड़ताल की गई. जांच के दौरान गायधने का शिकायतकर्ता के साथ समझौता हुआ जिसमें 20 हजार रूपए का धनादेश एवं 15 हजार रूपए की रिश्वत की मांग की और राशि स्वीकारने का प्रयास किया. आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार प्रतिबंधक कानून 1988 (सुधारित 2018) की धारा 7 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक रश्मी नांदेकर, अपर पुलिस अधीक्षक राजेश दुद्दलवार के मार्गदर्शन में पुलिस उपअधीक्षक रमाकांत कोकाटे, विजय खोब्रागडे, राजेश शेंद्रे, रंजीत बिसेन, नितिन रहांगडाले, राजेंद्र बिसेन ने की.

Related posts