भंडारा: वैनगंगा नदी तट पर बोरे में मिला शव, गोंदिया जिले के नंदकिशोर रहांगडाले का…

1,880 Views

मृतक की पत्नी ने प्रेमी और उसके एक साथी के साथ मिलकर दीया हत्या को अंजाम..

भंडारा पुलिस ने लाश मिलने के 48 घण्टे के भीतर ही सुलझाया इस हत्या की गुत्थी को…

रिपोर्टर।
गोंदिया/भंडारा। एक पत्नी ने अपने ही पति को प्रेम के अनैतिक सम्बन्धों में रोढ़ा बनने पर प्रेमी के साथ साजिश रचकर उसकी हत्या कर दी, फिर सबूत मिटाने उसकी लाश को बोरे में भरकर वैनगंगा नदी में फेंक दी। इस दिल दहला देने वाली घटना पर भंडारा जिला पुलिस ने त्वरित एक्शन मोड में आकर अनसुलझे हत्याकांड को सिर्फ 48 घंटो में उजागर करने का सरहानीय कार्य किया।
   बता दे कि भंडारा पुलिस को 10 दिसम्बर को एक अज्ञात युवक की लाश बोरे में बंद कोरंभी देवी ग्राम के वैनगंगा नदी तट पर मिली थी। पुलिस ने शिनाख्त हेतु शव के कपड़ों की जांच की, जिसमें मृतक की और उसकी पत्नी की फ़ोटो मिली। इसी फ़ोटो से जांच शुरू कर पुलिस को सफलता प्राप्त हुई कि लाश गोंदिया जिले के गोरेगावं थाना क्षेत्र के नवाटोला निवासी मृतक नंदकिशोर सुरजलाल रहांगडाले 34 की है।
    पुलिस अधीक्षक भंडारा वसंत जाधव व अपर पुलिस अधीक्षक अनिकेत भारती के मार्गदर्शन में स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक जयवंत चौहान, भंडारा शहर थाने के पुलिस निरीक्षक सुधाकर चौहान की संयुक्त टीम ने गोंदिया जिले के गोरेगांव तहसील के नवाटोला पहुँचकर पूछताछ की। पूछताछ की निसाहनदेही पर पुलिस मृतक के घर जा पहुँची।
   पुलिस ने मृतक नंदकिशोर की पूछताछ की। मृतक की पत्नी योगेश्वरी उर्फ गुड्डी रहांगडाले से पूछताछ की। पूछताछ में मृतक की पत्नी से कई तथ्य सामने आए।
पुलिस ने मृतक की पत्नी के बयान पर गोरेगांव के पाथरी निवासी सोमेश्वर पूरनलाल पारधी 39, गोंदिया मुंडीपार निवासी लेखराम टेंभरे को हिरासत में लिया। पुलिस द्वारा हिरासत में लिए आरोपियों ने मृतक की हत्या करना कबूल कर यह जानकारी प्रदान की।
   पुलिस को बताए बयान में बताया गया कि, मृतक नंदकिशोर रहांगडाले पेशे से निर्माण ठेकेदार था। मृतक की पत्नी योगेश्वरी उर्फ गुड्डी का पाथरी निवासी सोमेश्वर पारधी से अनैतिक प्रेम सम्बन्ध चल रहा था। मृतक नंदकिशोर दोनों के प्यार में रोढ़ा बनने पर उसकी पत्नी और प्रेमी ने हत्या की साजिश रचकर उसकी निर्मम हत्या कर दी।
   इस घटना को 4 दिसम्बर को अंजाम दिया गया। मृतक और उसकी पत्नी बाइक में सवार होकर खापरखेड़ा से भंडारा-लाखनी के रास्ते अपने गाँव आ रहे थे। इस बात की खबर आरोपी प्रेमी को पहले से थी। मृतक ने लाखनी के पास सालेभाटा पर बाइक रोकी। उसी दौरान साजिश के तहत आरोपी सोमेश्वर और उसका साथी हुंडई कार से वहां आ धमके तथा मृतक को रोककर उसे तीनो ने अंधेरे में ले जाकर उसके सर पर रॉड से हमला कर हत्या कर दी, फिर सबूत मिटाने के उद्देश्य से उसके शव को बोरे में भरकर कारधा के वैनगंगा पूल से नदी में फेंक दी।

Related posts