गोंदिया: बाढ़ पीड़ितों को महाविकास आघाडी ने पहुँचाई दुगनी राहत, खावटी अनुदान 5 हजार से बढ़कर किया 10 हजार

738 Views

 

कांग्रेस महासचिव एड. योगेशबापू अग्रवाल के प्रयासों से गोंदिया के करीब डेढ हजार परिवारों के खाते में जमा हुआ पहले किश्त में 5 हजार का अनुदान, आग्रह पर 5 हजार अतिरिक्त जमा करने का प्रयास जारी…

प्रतिनिधि।
गोंदिया। हाल ही में विगत दिनों गोंदिया जिले के वैनगंगा नदी के तटीय क्षेत्रों में भीषण बाढ़ के आने से हजारों किसानों की फसलें पूर्णतः तबाह हो गई थी। अनेकों किसानों के घरों में पानी घुस गया था, जिसके चलते हजारों किसानों को बडे पैमाने में आर्थिक व मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ा था।

 

इस बाढ़ से हुई फसलों की बर्बादी, किसानों के हुए नुकसान व कोरोना संकट के दौरान बुरी तरह आर्थिक कमजोरी से जूझ रहे किसानों के हालातों को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष नानाभाऊ पटोले ने बाढ़ पीड़ितों को अधिक नुकसान भरपाई सरकार से प्राप्त हो इस हेतु, राज्य के मुख्यमंत्री, मदत व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेटटीवार, मंत्री व गोंदिया जिला संपर्क मंत्री एड. यशोमति ठाकुर से फसलों की बर्बादी पर अधिक मुआवजा दिलाने व तुरंत आर्थिक राहत हेतु चर्चा कर की थी।

सरकार ने बाढ़ से प्रभावित गोंदिया जिले में कोल्हापुर में पिछले वर्ष आयी बाढ़ के तर्ज पर तीन पट मुआवजा प्रति हेक्टेयर 20 हजार 400 रुपये देने का निर्णय लिया था, जिसके आधार पर गोंदिया जिले को 12 करोड़ 32 लाख रुपये मदद राशि दी गई। इसी के साथ खावटी अनुदान के रूप में प्रति पीड़ित परिवार को 5 हजार का अनुदान उसके बैंक खाते में ट्रान्सफर कराया था।

जिले के कांग्रेस महासचिव एड. योगेश अग्रवाल ने कहा कि, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में महाविकास आघाड़ी सरकार ने किसानों की मदद हेतु तीन पट मुआवजा प्रदान कर उन्हें बड़ी राहत दी, वही 5 हजार रुपये की तुरंत राहत प्रदान कर सहारा दिया। इतना ही नहीं, कांग्रेस द्वारा बाढ़ पीड़ितों को 5 हजार अतिरिक्त अनुदान राशि देने का आग्रह सरकार से किये जाने पर सरकार ने इस सकारात्मक विषय को गंभीरता से लिया तथा पीड़ितों को 5 हजार की अतिरिक्त राशि अनुदान स्वरुप देंना मंजूर किया।

इस कार्य के तहत एड. योगेश अग्रवाल ने सरकार द्वारा जारी 5 हजार अनुदान की राशि पहले चरण में करीब डेढ हजार परिवार तक पहुँचाने में अथक परिश्रम किया, वही अतिरिक्त 5 हजार की अनुदान राशि पहुँचने हेतु वे प्रयासरत है।

Related posts