गोंदिया: घट रही सारस पक्षियों की संख्या, अब जिले में सिर्फ 25 सारस..

415 Views

गोंदिया, 24 जून : जिले में हर साल की तरह इस साल भी गोंदिया वन विभाग और जिले के विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के सहयोग से 23 जून 2024 को सारस जनगणना का आयोजन किया गया था.

गोंदिया जिले में गोंदिया, तिरोड़ा और आमगांव तालुकों के अंतर्गत कुल 70 अलग-अलग स्थानों पर जहां सारस रहते हैं, स्वयंसेवकों, सारस मित्रों, किसानों और गोंदिया वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने सुबह 5 बजे से 9 बजे तक यह गिनती की और कुल 25  सारस पक्षीयो की गणना दर्ज की गई।

सारस जनगणना पर नजर दौड़ाए तो पिछले साल 2023 की तुलना में 6 सारस पक्षीयो की संख्या कम दर्ज की गई। सारस बढ़ने की बजाए कम होंना सारस के सवंर्धन पर सवाल खड़ा करता है। ये गोंदिया जिले के लिए दुखद घटना है कि हम दुर्लभ और सुंदर पक्षी की संख्या को खो रहे है।

अगर सारस गणना के चार साल के आंकड़े देखे तो, वर्ष 2020 में हमारे जिले में 45 सारस, वर्ष 2021 में 39, वर्ष 2022 में 34, वर्ष 2023 में 31 एवं इस वर्ष 2024 में 25 सारस पाए गए। चार सालों में जिले में सारस पक्षियों की संख्या बढ़ाने की बजाय कुल 20  सारस पक्षियों को हमनें खो दिया है।

सारस गणना की टीम का कहना है कि, जैसा कि अपेक्षित था, कुछ स्थानों पर सारस के जोड़े नहीं देखे गए, टीम 3 से 4 दिनों के लिए फिर से कुछ स्थानों पर जाएगी और उनकी गिनती करेगी। यह गणना पूरी होने के बाद ही सारस की सही संख्या पता चल सकेगी।

सारस की गणना के लिए कुल 39 टीमें बनाई गई थीं।  प्रत्येक टीम में एनजीओ के स्वयंसेवक, सारस मित्र, स्थानीय प्रतिनिधि/किसान, वन विभाग के वनपाल, वन रक्षक सहित कुल 5 से 6 व्यक्तियों ने भाग लिया।

सारस गणना के लिए जिले के सेवा संगठन और अन्य गैर-सरकारी संगठनों के स्वयंसेवकों, सारस मित्रों, किसानों और गोंदिया वन विभाग के कर्मचारियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया और आर्द्रभूमि, नदियों, खेतों और तालाबों जहां सारस रहते हैं, का दौरा किया और सारस की गणना की।

Related posts