किन्नरों ने उठाई आवाज: हम भी समाज का अंग, ना आवास मिला न मिली सुख-सुविधाएं-निशा मौसी

502 Views

 

जो देंगा किन्नर समुदाय को सुविधाएं उसे देंगे चुनाव में आशीर्वाद- निशा नायक

गोंदिया। देश में किन्नर समाज को लिंग के तीसरे वर्ग का दर्जा प्राप्त है। किन्नर समाज भारतीय समाज का अभिन्न अंग है। फिर भी इस समुदाय के साथ आज भी सौतेला व्यवहार ही किया जाता है। अब जबकि लोकसभा चुनाव चल रहे है तो किन्नर समाज भी अपनी व्यवस्था को पटल पर ला रहा है।
गोंदिया में अखिल भारतीय किन्नर समाज की राष्ट्रीय अध्यक्ष किन्नर निशा नायक मौसी जनप्रतिनिधियों से बहोत खफ़ा है। निशा मौसी कहती है। हम भी समाज का अंग है। हमें भी संवैधानिक रूप से मतदान करने का अधिकार है। क्या हमारे समुदाय का विकास नही होना चाहिये..??
निशा मौसी कहती है, हरवर्ग, समाज को शासन की योजनाओं की सहूलियत प्रदान की जाती है। किसी समाज को समाज भवन तो किसी को मरघट, आवास, पर किन्नर समाज पिछले 20 सालों से शासन योजनाओँ से पिछड़ा हुआ है। आखिर हमारे साथ ऐसा सौतेला व्यवहार क्यों।
हम किन्नर मंगल मुखी है। हर सुख के कार्य में हम समाज के बीच होते है। आशीर्वाद देते है। पर इससे समाज का उद्धार नही है। हम चाहते है कि हमारे समाज के लोगो को आवास योजना का लाभ मिले, हमारा भी समाज भवन हो। हमारी सुनने वाला नेता हो।
निशा मौसी कहती हैं, नांदेड़ जिले में किन्नर समाज के लिये वहां के नेताओ ने 3 एकड़ जमीन दी है। जहां उनके आवास भी है, श्मशान घाट भी, और अन्य सुविधाएं भी। पर यहां के नेता कभी हाल चाल भी पूछने नहीं आते। बस चुनाव आने पर हाथ जोड़कर वोट मांगने आते है फिर पांच साल चेहरा नही दिखाते।
निशा नायक ने कहा, जो हमारी सुनेगा, हमारी फिक्र करेगा, हम उसी को अपना आशीर्वाद देंगे।

Related posts