गोंदिया: जिले के कारीगर उठाएं पीएम विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का लाभ- सुनील केलनका

498 Views

 

नि:शुल्क प्रशिक्षण और आर्थिक सहायता का मिलेगा लाभ, 1 लाख रु. का लोन भी बिना गेरेन्टर के

प्रतिनिधि।
गोंदिया: गोंदिया जिला भाजपा महामंत्री सुनिल केलनका ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वपूर्ण विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में संपूर्ण गोंदिया जिले के कारीगर भाईयों बहनों से अधिक से अधिक संख्या में पंजीयन कराने का और शासन की कारीगर वर्ग के लिये शुरु की गई लाभदायक इस योजना का भरपूर लाभ लेने का आहवान किया है।

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के संबंध में भाजपा नेता केलनका ने बताया कि कारीगरों के विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए इस योजना के अंतर्गत कारीगरों को और पारंपरिक कारीगरों व दस्तकारों को अपने हुनर को और ज्यादा निखारने के लिए पंजीयन के बाद ७ दिन की फ्री ट्रेनिंग दी जायेगी, जिसमें प्रतिदिन ५०० रुपये का अनुदान देकर प्रशिक्षित किया जायेगा। प्रत्येक कारीगर को नि:शुल्क टूल किट प्रदान करने के साथ ही एक लाख रुपये तक का लोन भी बिना किसी गैरेंटर के दिया जायेगा, जबकि वहीं समय सीमा में लोन का भुगतान करने के उपरांत और १ लाख से अधिक दो लाख रुपये तक भी लोन इस योजना के तहत कारीगरों को दिया जायेगा।

श्री केलनका ने यह भी बताया कि विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना या विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में से एक है। इस योजना के लिए 13 हजार ८00 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत आने वाले कारीगरों, शिल्पकारों आदि को पीएम विश्वकर्मा सर्टिफिकेट और आईडी कार्ड प्रदान किया जाएगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन भी नि:शुल्क किया जा रहा है।

इस योजना में राज मिस्त्री, नाई, मालाकार, धोबी, दर्जी, ताला बनाने वाले, बढ़ई, लोहार, सुनार, अस्त्रकार, मूर्तिकार, पत्थर तराशने वाले, पत्थर तोडऩे वाले, मोची/जूता बनाने वाला कारीगर, नाव निर्माता, टोकरी/चटाई/झाड़ू बनाने वाला, गुडिय़ा और खिलौना निर्माता, हथौड़ा और टूलकिट निर्माता, फिशिंग नेट निर्माता आदि कारिगरों को शामिल किया गया है।

Related posts