गोंदिया: व्यापारी फेडरेशन महासम्मेलन, नेताओं के चले शब्दबाण..निपटा-निपटी की राजनीति पर चली चर्चा..

760 Views

मैं खुश हूँ कि, मुझे निपटाने के बारे में कोई नही सोचता- सांसद सुनील मेंढे

——————–

चंदा व्यापारियों से, और खरीदी अमेजॉन, फ्लिपकार्ट से- विधायक विनोद अग्रवाल

——————-

गोंदिया में निपटा-निपटी की राजनीति से वैज्ञानिक भी फेल- रमेश कुथे

——————–

आगरा में राजधानी नहीं रुकती पर गोंदिया में रुकती है, इसका हमें गर्व है- राजेन्द्र जैन

प्रतिनिधि। 10 सितंबर
गोंदिया। स्वागत लॉन में आयोजित गोंदिया जिला व्यापारी फेडरेशन के स्नेह सम्मेलन समारोह में पूरे जिले से सैकड़ों व्यापारियों ने उपस्थिति दर्ज कर एकजुटता का परिचय दिया।
गोंदिया के इस जी-20 व्यापारियों के महासम्मेलन में उपस्थित जनप्रतिनिधियों, पूर्व जनप्रतिनिधियों ने जमकर व्यापारियों के हित पर बात की वही गोंदिया की राजनीति पर भी खूब शब्दों के बाण चलाये।
सांसद सुनील मेंढे ने कहा, मैं खुशनसीब हूँ कि निपटाने की राजनीति से मैं दूर हूँ। मेरा स्वभाव सरल है। इसलिए मुझे कोई निपटाने के बारे में सोचता हो, ऐसा मुझे नही लगता।
उन्होंने आगे कहा, केंद्र में मोदी सरकार, सभी की सोच के साथ कार्य कर रही है। हर स्तर पर सरकार नई क्रांति ला रही है। देश के उज्ज्वल भविष्य पर सरकार ने नया आयाम स्थापित किया है। व्यापार का, जिले का टर्न ओवर बढाने सरकार कदम उठा रही है। समृद्धि महामार्ग गोंदिया तक आने से विकास को बढ़ावा मिलेगा। ट्रांसपोर्टिंग बढ़ेगी।
सांसद मेंढे ने कहा, व्यापारी देने वाला वर्ग है। टैक्स, जीएसटी देने से हमें अच्छा व्यवहार करने में सफलता मिलती है, देश को विकसित करने में हमारा मुख्य योगदान रहता है। ड्राइपोर्ट, एमआईडीसी में शुरू करने हेतु प्रयास जारी है। बिरसी एयरपोर्ट से, मुंबई कनेक्टिविटी जोड़ने पर प्रयास है। मुंबई में स्लाट नही है। जल्द ही इसपर उड़ान शुरू करने कार्य जारी है।
गोंदिया विधानसभा के आमदार विनोद अग्रवाल ने बातों-बातों में हंसी के ठहाकों में बहोत कुछ कह डाला। उन्होंने कहा, गोंदिया छोटे-मोटे नेताओ का शहर नही, पॉवरफूल नेताओ का शहर है। यहां 27 साल, 12 साल और 10 साल तक जनप्रतिनिधित्व करने वाले नेता उपस्थित है। ये सभी अनुभवी, और मैं जूनियर। गोपाल अग्रवाल पॉवरफुल नेता है भले ही पद पर नही है। हम सबने व्यापारियों के लिए प्रयास करना चाहिए।
उन्होंने आगे कहा, देश के निर्माण में व्यापारियों का मुख्य योगदान है। देश मे किसान और व्यापारी समाज को कुछ देने का कार्य करता है। सरकार भी गंभीरता से खड़ी रहती है। व्यापारी कमाई का हिस्सा सरकार को देती है। पर मुसीबत आने पर मदद नही मिलती। कई आपदा के संकट से व्यापारी गुजरते है, ये दुर्भाग्य है कि व्यापारियों के लिए कोई योजना नही है। सरकार ने व्यापारियों की मुसीबत पर मदद का हाथ बढाना चाहिए। हम इसके लिए प्रयासरत है।
विधायक विनोद अग्रवाल ने सभी को सबकुछ व्यापारियों से चाहिए। यहां तक कि चंदा भी। पर चंदा व्यापारियों से और ख़रीदी अमेजॉन, फ्लिपकार्ट से। इस नीति को बदलना होगा। हमारे बीच का माध्यम व्यापारी वर्ग है। उन्हें संकट में सरकार से आधार मिलना चाहिए। मेरे प्रयास है कि व्यापारियों के लिए सरकार द्वारा नीति बनाना चाहिए।
पूर्व विधायक रमेश कुथे, ने व्यापारियों के सम्मेलन में जमकर शब्दबाण चलाये। उन्होंने कहा, गोंदिया की राजनीति निपटा-निपटी की राजनीति है। यहां की राजनीति देखकर वैज्ञानिक भी फेल है। जिले का नाम गिनीज बुक में आना चाहिए। यहां सबने सबको निपटा दिया।
पूर्व विधायक राजेन्द्र जैन भी इनमें पीछे नही रहे। उन्होंने भी सीधे गोंदिया से आगरा तक छलांग लगा दी। जैन ने कहा, जिस जगह ताजमहल है उस आगरा में राजधानी एक्सप्रेस नही रुकती पर गोंदिया में रुकती है, इसका हमें गर्व है। सांसद प्रफ़ुल्ल पटेल ने अनेक ऐसे कार्य जिले के लिए किए जो गौरान्वित करते है।
राजेन्द्र जैन ने श्रेय की राजनीति पर शब्दों के जाल में कहा कि, भले ही हम किसी भी पक्ष या विचारधारा के साथ हो, पर जब कोई विकास कार्य होते है तो हमें एकजुटता दिखाना चाहिए। आज व्यापारी एकजुटता में है। संघर्ष के लिए पूर्व से अब तक वे ताकत के साथ खड़े है।  जिले में व्यापार को बढ़ावा मिलें यही हमारा उद्देश्य है।
उन्होंने कहा, पासपोर्ट ऑफिस खुलना चाहिए। हम प्रयत्न कर रहे है और खुलेगा। क्योंकि सब जनप्रतिनिधियों के सकारात्मक प्रयास जारी है। व्यापारियों के राइस मिल व्यापार बचाने  व उसे बेहतर बनाने हेतु प्रयास सासंद पटेल ने सदैव किया है।
पूर्व विधायक गोपाल अग्रवाल ने कहा, मैं व्यापारी के घर में पैदा हुआ, और जुड़ा रहा। राजनीति में व्यापारियों के हक के लिए आया।जब राइस पर लेवि लगी, तब हम सब मुंबई पहुचे थे। अधिवेशन के दौरान, मंत्री जी से मिलना था। 5 घँटे व्यापारी विधानसभा गेट पर खड़े रहे। हमनें जिल्लत महसूस किया। इस मन की वेदना ने मुझे विधानसभा तक पहुचाया।
व्यापारियों के हर विषय पर मैंने किसी नेता, मंत्री के पास जाने की बजाय विधानसभा में आवाज़ उठाई। ये भी सच है कि जो भी जनप्रतिनिधि गोंदिया से बना वो व्यापारी से बना है।
पूर्व विधायक गोपाल अग्रवाल ने कहा, रमेश भाऊ ने जो कहा, सही कहा, मै भी निपट गया। जिन पर भरोसा किया उन्होंने निपटा दिया। पर मैं हिम्मत नही हारा। मेरा केंद्र बिंदु व्यापार को बढ़ावा देना है। फसलें बढ़ेगी तो पैसा गोंदिया में आएगा।
फेडरेशन फिर जोश में दिख रहा है। असोसिएशन की लड़ाई होनी नही चाहिए। चाहे फेडरेशन हो या असोसिएशन हो, हाईजैक करने का कार्य जारी है। असोसिएशन कितनी भी हो, पर फेडरेशन एक हो। एकजुट हो। पहले के वरिष्ठ लोगों ने सारी असोसिएशन को एकसाथ लाया।
छपास की राजनीति से दूर फेडरेशन की लड़ाई में हम एकसाथ रहे है। हम अपनी जमीन को संभाल कर रखने का कार्य कर रहे है। नहीं संभालेगे तो झोपड़े बन जायेंगे। सरकारें भी व्यापारियों के हित की सरकार है। आज की सरकार से व्यापारियों को कोई खतरा नहीं है।
गोंदिया जिला व्यापारी फेडरेशन के इस स्नेह सम्मेलन में सांसद सुनील मेंढे, विधायक विनोद अग्रवाल, पूर्व विधायक रमेश कुथे, राजेन्द्र जैन, गोपाल अग्रवाल, फेडरेशन अध्यक्ष किरण कुमार मुंदड़ा,  मुकेश शिवहरे, लक्ष्मीचंद रोचवानी, दिनेश दादरिवाल, सीताराम अग्रवाल, राजेन्द्र बग्गा, हुकुमचंद अग्रवाल, अपूर्व अग्रवाल, सुखदेव अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, नारी चांदवानी आदि सहित सैकड़ों व्यापारियों की उपस्थिति रही।

Related posts