व्यापारियों ने उठाई, गोंदिया शहर के अंदर हेलमेट की अनिवार्यता रद्द करने की मांग..

1,037 Views

11-12 जुलाई से हो सकती पूरे जिले में हेल्मेट सख्ती लागू.. नहीं पहनने पर होगी दंडात्मक कार्रवाई

प्रतिनिधि। 8 जुलाई
गोंदिया। गोंदिया जिले में एवं शहर में दुचाकी वाहन धारकों को वाहन चलाते समय हेलमेट सख्ती को लेकर 7 जुलाई को एक पत्र पुलिस अधीक्षक गोंदिया निखिल पिंगळे के निर्देश पर जिला यातायात नियंत्रक पुलिस विभाग ने जारी किया है। इस आदेश पत्र में जारी पत्र की तारीख से अगले 6 दिन तक छूट दी गई है वही हेलमेट को लेकर जनजागृति की जा रही है। परंतु इसके बाद भी अगर कोई हेलमेट बिना पहने वाहन चलाते दिखाई देता है तो उसपर कानूनन दंडतात्मक कार्रवाई करने का उल्लेख किया गया है।
इस आदेश के जारी होने पर गोंदिया शहर के व्यापारियों के प्रतिनिधि मंडल ने आपत्ति जताई है। उन्होंने शहर के भीतर हेलमेट अनिवार्यता को रद्द करने की मांग उठाई है।
शहर में हेलमेट सख्ती को लेकर आज 8 जुलाई को व्यापारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने एसपी निखिल पिंगले से भेंट कर बहुत सौहार्दपूर्ण वातावरण में लंबी चर्चा की।
व्यापारियों के प्रतिनिमण्डल ने एसपी श्री पिंगळे से कहा कि, शहर में अधिकतर मार्ग संकरे है। सड़कों में स्पीड ब्रेकर और सड़कों की हालत खराब व वाहन चलाना दूभर है। मार्केट में खरीदी करते हुए हेलमेट पहनना, सम्भालना मुश्किल भरा है। गाड़ियां भी मात्र  8/10 किलोमीटर की स्पीड से भी बामुश्किल चल पाती है, जिसमें दुर्घटना की संभावना नगण्य है। इसलिए शहर में हेलमेट अनिवार्यता को रद्द किया जाना चाहिये।
एसपी ने सभी बातों पर ध्यानपूर्वक संज्ञान लिया एवं इस बात पर जिलाधिकारी गोंदिया के साथ में सकारात्मक रूप से निर्णय निकालने के लिए पहल करने का आश्वासन आश्वासन दिया। साथ ही कहा कि अगर आवश्यकता पड़ती है तो व्यापारी शिष्टमंडल को भी साथ में लेकर कलेक्टर साहब के साथ में बैठकर इस पर एक सकारात्मक निर्णय निकाला जाएगा।
इस भेंट के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री पिंगळे के साथ जिला यातायात पुलिस विभाग के पीआई जयेश भांडारकर उपस्थित रहे। इस समस्या का समाधान निकालने हेतु संजय जैन (लाडली), लक्षमण लधानी, सुशील इसरका, महेंद्र खंडेलवाल, राजा इसरका, आशीष अग्रवाल, कानू सोनी विशेष रूप से उपस्थित थे।

Related posts