तिरोड़ा: केंद्र की योजनाएं ग्राम उत्थान का मार्ग दिखाने वाली सशक्त योजनाएं -खा. सुनील मेंढे

160 Views
प्रतिनिधि।
तिरोडा। शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों के उत्थान के लिए केंद्र सरकार की योजनाएं एक अहम जरिया हैं। एवं इन योजनाओ से हो रहा परिवर्तन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकासोन्मुख दृष्टि की गवाही है। उक्त आशय क्षेत्र के सांसद सुनील मेंढे ने व्यक्त किया।
कुछ दिन पहले सांसद सुनील मेंढे की पहल पर केंद्र सरकार के सामाजिक न्याय मंत्रालय और एआईडीपी विभाग की ओर से दिव्यांगजनों का मूल्यांकन किया गया था. इसके जरिए दिव्यांगजनों की जरूरत की सामग्री के लिए उनका चयन किया गया। ऐसे चयनित दिव्यांगजनों को नि:शुल्क सामग्री वितरण का कार्यक्रम आज तिरोडा पंचायत समिति सभागार में आयोजित किया गया.
कार्यक्रम में सांसद सुनील मेंढे ने तिरोडा शहर व ग्रामीण क्षेत्रों से चयनित विभिन्न हितग्राहियों को कान की मशीन से लेकर तिपहिया साइकिल तक की सामग्री वितरित की गई।
सांसद सुनील मेंढे ने इस अवसर पर उपस्थित लोगों का मार्गदर्शन करते हुए केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश भर के असंख्य किसानों के खातों में 6000 रुपये की सब्सिडी राशि जमा कर किसानों को राहत देने का काम किया है.
मोदी सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए योजनाएं लागू कीं। उन्होंने कहा कि नि:शुल्क सामग्री वितरण की योजना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि विकलांग भी अपने पैरों पर खड़े हो सकें और सामान्य लोगों की तरह जीवन जी सकें।
उन्होंने कहा कि जो हितग्राही पात्र होने के बावजूद शिविर में नहीं पहुंचे हैं, उनके पास सामग्री पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी, उन्होंने कहा हमारा लक्ष्य अंतिम लाभार्थी तक लाभ पहुँचाना है।
सामाग्री वितरण के पूर्व जनता दरबार के माध्यम से सांसद मेंढे ने तहसील के सैकड़ों लोगो के अनेक विषयों को सुना और संज्ञान लिया। पश्चात उसमे समाधान हेतु अधिकारियों को निर्देश दिए कि समस्याओं का तत्काल समाधान करें।
इस अवसर पर सर्वश्री ओमभाऊ कटरे जिलाध्यक्ष भाजमुयो, बाळूभाऊ बावनथडे जिल्हा परिषद सदस्य, सौ.कुंताताई पटले सभापती, हुपराजजी जमैवार उपसभापती, सौ.कविता सोनवणे सदस्या पं.स, सौ.दिपाली टेंभेकर, सौ.ज्योती शरणागत, सौ.प्रमिला भलाई, सौ.सुनंदा पटले, चैतलाल भगत सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Related posts