कोतवालों को अब 15 हजार रुपये मानधन, विधायक विनोद अग्रवाल ने उठाया था मुद्दा..

346 Views

गोंदिया में 12 हजार कोतवालो को राहत..

प्रतिनिधी गोंदिया
सरकार द्वारा राज्य में कोतवाल का मानदेय बढ़ाने के निर्णय के बाद राज्य के कोतवालों को राजस्व एवं वन विभाग के संयुक्त सचिव संजय बनकर ने ऐसा आदेश जारी कर राहत दी है. अब इस आदेेश के तहत कोतवालो को अप्रैल 2023 से 15 हज़ार रुपए मानधन लागू किया जाएगा, इस आदेश से जिले के कोतवालो में हर्ष की लहर छा गई है
बता दे की कोतवाल को राजस्व विभाग का प्रमुख घटक माना जाता है, लेकिन कोतवालो को शासकीय कर्मियों का दर्जा नहीं दिया गया है, वही अल्प मानधन पर काम कराया जाता था, कोतवाल संघटन द्वारा माग की जा रही थी कि कोतवालो को शासकीय कर्मियों का दर्जा देकर मानधन में बढ़ोत्तरी की जाय आदि मांगो का समावेश था, कई बार हड़ताल, मोर्चा, आंदोलन कर शासन के समक्ष मांग रख ध्यान आकर्षित करने का काम किया गया लेकिन इन मांगो की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा था, आखिरकार संघटन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री से चर्चा कर मांग पूरी करने की बात कही, जिसपर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, राजस्व मंत्री विखे पाटिल ने अर्थ संकल्पीय भाषण मानधन में बढ़ोतरी करने की घोषणा की थी, जिसपर 17 मार्च को मानधन बढ़ोत्तरी का प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया जिसके बाद 6 अप्रैल को शासन ने एक परिपत्र जारी कर कोतवालो को 15 हज़ार रुपए मानधन अप्रैल 2023 से लागू किया जाए, परिपत्र जारी होते ही कोतवालो में खुशी की लहर छा गई।

विधायक विनोद अग्रवाल ने रखा था सरकार के समक्ष कोतवालों के मांगों का मुद्दा..

कोतवालो के मानधन में बढ़ोतरी की जाय इस मांग का मुद्दा विधायक विनोद अग्रवाल एवं मंगेशदादा चव्हाण , विजय राहंगडाले ने मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री व राजस्व मंत्री के पास रखा था एवं उन्हें न्याय देने की बात की थी। इन्ही मांगों को पूर्ण करने सरकार ने विधायकद्वय को आश्वस्त कर बजट के दौरान अपने भाषण में इसकी घोषणा की थी। अब सरकार ने कोतवालो की मांगो को मंजूरी दे दी। 6 अप्रैल को शासन ने एक परिपत्र जारी कर कोतवालो को 15 हज़ार रुपए मानधन अप्रैल 2023 से लागू करने का निर्णय लिया है जिससे कोतवालो में खुशी की लहर छा गई।
 कोतवालों को मानधन बढ़ोत्तरी की जानकारी राज्य अध्यक्ष शिवप्रसाद देवने, उपाध्यक्ष युवराज यादव, सल्लागार रोशन जोगे, राज्य कोषाध्यक्ष घनश्याम पटले, विदर्भ प्रमुख रविंद्र बोड़ेले, जिलाध्यक्ष विकास चाचेरे, उपाध्यक्ष महादेवराव शिवनकर, जिला सचिव लंकेश बिसेन, संतोष बिसेन, जीतू टेभरे तथा कोतवाल संघटन के पदाधिकारियों ने दी है।

Related posts