जैसी उम्मीद, वैसा बजट, शिंदे/फडणवीस सरकार बनाएगी दिवंगत बालासाहेब ठाकरे के स्वप्नों का राज्य- शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे

265 Views

 

शिवहरे ने कहा- किसानों, महिलाओं, बेटियों, छात्रों, आमनागरिक, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार के साथ सबका साथ सबका विकास को सहयोग और साहस देने वाला बजट

 

गोंदिया। महाराष्ट्र में शिंदे/फडणवीस सरकार द्वारा आज प्रस्तुत बजट में सरकार ने सुनहरा बजट पेश किया। राज्य की जनता को जैसी उम्मीद थी बिलकुल वैसे ही बजट में सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है। इस बजट में आम नागरिक, किसान, मजदूर, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, स्कूल, मेट्रो, आम जनता के लिए घर, जैसी कई अहम चीजों पर ध्यान दिया गया जो स्वागत योग्य है।

शिवसेना जिलाप्रमुख मुकेश शिवहरे ने इस बजट की सराहना करते हुए कहा कि, महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद फडणवीस की सरकार सुजलाम सुफलाम, प्रगतिशील महाराष्ट्र की संकल्पना पर कार्य कर रही है। ये सरकार दिवंगत बालासाहेब ठाकरे के स्वप्नों के राज्य निर्मिति पर कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा, बजट में किसानों के लिए जो प्रावधान किया गया, उससे उनके चेहरे प्रफुल्लित है। प्रधानमंत्री कृषि सन्मान निधि योजना अंतर्गत 6 हजार रुपये साल में मिलते थे, उसे राज्य सरकार ने 12 हजार कर दिया। किसान भाई अब 1 रुपये में फसल बीमा करा सकेंगे। विदर्भ, मराठवाड़ा के 14 आपदाग्रस्त जिलों के केशरी कार्ड धारकों को अनाज देने की बजाय उनके बैंक खाते में सीधे रकम डाली जाएगी। ये रकम प्रति वर्ष प्रति किसान 1800 रुपये होगी। इतना ही नही मंडी में खेतिहर वस्तु की बिक्री हेतु आने वाले किसानों को मुफ्त भोजन व निवास की व्यवस्था का प्रावधान किया गया है।

मुकेश शिवहरे ने कहा, राज्य सरकार ने अब बेटियों के अनुपात को बढ़ाने, उनके प्रगति व सहयोग हेतु लाडली बेटी योजना अंतर्गत बेटी होने पर 5 हजार रुपये, कक्षा 1ली में 4 हजार, 6वी में 6 हजार, 11वी में 8 हजार एक 18 साल की होने पर 75 हजार देने का वादा किया है।

महिलाओ के एसटी बस सफर में 50 प्रतिशत की रियायत (छूट) दी है। आशा सेविकाओं के वर्तमान मानधन 3500 में बढ़ोत्तरी कर 5 हजार कर दिया गया है। गट प्रवर्तक को 4700 से बढ़ाकर 6200 कर दिया। आंगनवाड़ी सेविकाओं के वर्तमान मानधन 8325 को बढ़ाकर 10 हजार कर दिया गया। मिनी आंगनवाड़ी सेविका का मानधन 7200 व सहायक कर्मी का 5500 कर दिया। इनमें 20 हजार नए पद भरने की भी घोषणा की गई है।

नोकरी पेशा महिलाओं के लिए 50 आवासीय गृह बनाने बजट में प्रावधान किया गया, वहीँ निराधार, संजय गांधी, श्रावण बाल योजना के लाभार्थियों को मिलने वाली सहयोग राशि 1 हजार से बढ़ाकर 1500 रूपये कर बड़ी मदद की गई है। अब ये पैसे हर महीने के पहले हप्ते में देने की बात भी कही है।

सरकार ने बजट में दिवंगत बाला साहेब ठाकरे, छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर योजनाओं की शुरुआत करने का प्रावधान किया गया है। बजट में महिलाओं की सुरक्षा से लेकर उनकी शिक्षा और स्कॉलरशिप का भी ध्यान रखा गया है। छात्रों के लिए बढ़ोत्तरी छात्रवृत्ति आदि बजटीय घोषणा ने सबको प्रफुल्लित कर दिया है।

Related posts